उज्जैन महाकाल मंदिर में खुदाई में मिली हैरान करने वाली चीजे, एक्सपर्ट भी देखकर हो गए हैं हैरान

Mahakal Mandir

उज्जैन महाकाल मंदिर 12 ज्योतिर्लिंग में एक है, जिसके परिसर से पुरातत्व विभाग की टीम को पुराने अवशेष मिले हैं। जिनमे कुछ खास चीजे भी देखने को मिली है, जिसने सभी को हैरान कर दिया है। कुछ दिन पहले ही खुदाई के दौरान पुरातत्व विभाग की टीम को यह अवशेष हाथ लगे हैं। जिसके बाद इसकी जानकारी अधिकारियों को दी गई। इसकी और गहराई से जांच की जा रही है, आइये देखते है इसमें और क्या मिला है।

Mahakal Mandir

पुरातत्व विभाग की टीम ने उज्जैन महाकाल मंदिर में गहराई से जांच की, इसमें टीम के अनुसार मंदिर से मिले ये अवशेष करीब 2100 साल पुराने बताए जा रहे है। हम आपको बता दे की यह मंदिर एक प्राचीन मंदिर में से एक है, और पूरे विश्व में इस मंदिर को जाना जाता है। यहां टीम अभी भी गहराई से जांच कर रही है। इस बारे में अधिकारियों ने कहा कि मंदिर में मिले अवशेषों को निगरानी से जांच करने के बाद रिपोर्ट बनाई जाएगी। इस रिपोर्ट को संस्कृति मंत्रालय को सौंपा जाएगा।

Mahakal Mandir

पुरातत्व विभाग की ये टीम परिसर में मिले अवशेषों के बारे में कहा है, की कि ये प्राचीन मंदिर के अवशेष हैं। यहां पर 11वीं और 12वीं शताब्दी में बने मंदिर के अवशेष मंदिर परिसर के नीचे मिले है। ये मंदिर की उत्तर दिशा वाले भाग से मिले हैं, दक्षिण की ओर 4 मीटर नीचे एक दीवार भी मिली है, जो बताया जा रहा है की इस मंदिर की दीवार हो सकती है। यह सभी अवशेष शुंग युग से संबंधित प्रतीत होती हैं। ये सभी 2100 साल पुराने हो सकते है, ऐसा एक्सपर्ट का कहना है।

Mahakal Mandir

इसके अलावा खुदाई में और भी कई चीजें मिली है, जिसमे उत्कृष्ट खंभे, आधार ब्लॉक, मंदिर के गुंबद के हिस्से और पत्थर के नक्काशीदार रथ भी मिले हैं। जो देखने में काफी खूबसूरत है। यह सभी अवशेष शुंग युग से संबंधित प्रतीत होती हैं। ऐसा कहा जा रहा है की शुंग युग में भी यह मंदिर स्थित था। खुदाई के दौरान आये हुए एक्सपर्ट रमेश यादव ने दावा किया कि, यहां पर मिलने वाली चीजी बहुत पुरानी, यदि और जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो यहां पर और खुदाई की जरूरत है।

और की जाए मंदिर की खुदाई

Mahakal Mandir

इस मंदिर में कई बार खुदाई की गयी है, इसके पहले भी प्राचीन चीजें यहां पर पायी गयी है। पिछले साल दिसंबर 2020 में भी हजारों साल पुराने शिलालेख मिले थे। इसके बाद खुदाई का कार्य रोक दिया गया था। और आप दोबारा शुरू किया गया है। वहीं खुदाई के दौरान सोमवार को माता की प्रतिमा भी मिली थी, जिसकी जांच अभी चल रही है कि, यह कितने समय पुरानी है। और कहा जा रहा है की यहां और खुदाई की जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...