56 यात्रियों की जान बचाते हुए बस ड्राइवर ने तोड़ा दम, होती रही खून की उल्टियां पर नहीं छोड़ी बस की स्टेरिंग

Bus Driver Death

आज भी दुनिया में कुछ ऐसे लोग मौजूद हैं, जो खुद से पहले दूसरों के बारे में सोचते हैं। ऐसी ही बात को साबित किया है, एक ऐसे बस ड्राइवर ने। जिसने अपनी जिंदगी की फिक्र किए बिना दूसरों की जान बचाई। जी हां! एक बस ड्राइवर ने अपनी जान देकर एक बड़ी दुर्घटना होने से बचा लिया। उस बस ड्राइवर ने खुद मरते मरते 56 लोगों की जान बचाते गया। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस पर जौनपुर से दिल्ली जा रही, रोडवेज बस के ड्राइवर की अचानक तबीयत बिगड़ने लगी। जब ड्राइवर की तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी। तब उसने बस की स्पीड कम करके औरन-फौरन बस को साइड में लगा दिया।

56 यात्रियों की जान बचाते हुए बस ड्राइवर ने तोड़ा दम

Bus Driver

इसके बाद उसे लगातार खून की उल्टी होने लगी और बस ड्राईवर वही दम तोड़ दिया। बता दूं, कि बस देर रात जौनपुर से दिल्ली के लिए जा रहा था। जिस पर कुल 56 यात्री सवार थे लेकिन बस ड्राईवर ने अपनी सूझ-बुझ से उन तमाम यात्रियों की जान बचा ली। जब अचानक से ड्राइवर की तबीयत बिगड़ने लगी, तो बस में बैठे सभी यात्रियों में हड़कंप मच गया आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस पर जौनपुर से दिल्ली जा रही, रोडवेज बस ड्राइवर का नाम संतराजरामवबताया जा रहा है और इनकी चलती बस में ही तबीयत बिगड़ने शुरू हो गई थी।

Bus Driver

बस कंडक्टर दीपक कुमार ने बताया, कि जौनपुर जिला के शाहगंज से बस दिल्ली के लिए रवाना हुई थी। जहां बस लखनऊ में कुछ देर रुकने के बाद 10 किलोमीटर चलने पर कन्नौज पहुंची। बस में कुल 56 यात्री बैठे थे। कन्नौज के सौरीख क्षेत्र में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस 65 से 65 की स्पीड़ पर चल रही थी, की अचानक बस ड्राईवर की तबियत बिगड़ने लगी। ड्राईवर ने तुरंत ही, बस को साइड में लगाया और गाड़ी का गेट खोल कर उल्टियां करनी शुरू कर दी और कुछ ही मिनटों के बस ड्राईवर इस दुनिया को छोड़कर परलोक सिधार गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top