कौन हैं जिसके कहने पर बिहार में LJP, NDA से अलग हुई – चिराग पासवान ने बताया नाम

Bihar Chunav

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी में खींच तान चल रही हैं। और सियासी दलों ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी हैं। बिहार में पहले चरण के चुनाव की वोटिंग 28 अक्टूबर को 16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग होगी। बिहार विधानसभा चुनाव इस बार इसलिए भी ज्यादा अहम है क्योकिं केंद्र की NDA सरकार की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) इस बार बिहार में अलग चुनाव लड़ रही हैं।

LJP अध्यक्ष चिराग पासवान ने उन सभी सीटों पर अपना उम्मीदवार मैदान में उतारा हैं जो सीटें JDU के हिस्से में आई हैं। साथ ही LJP अध्यक्ष चिराग पासवान ने इस बात का भी खुलासा किया हैं की JDU से अलग चुनाव लड़ने की प्रेरणा कहा से मिली हैं।

किसने कहा – चिराग अकेले मैदान में उतरो !

Chirag Paswan

NDTV की ख़बर के मुताबिक – LJP अध्यक्ष चिराग पासवान ने इस बात का भी खुलासा किया की आखिर उन्हें किसने प्रेरणा दी की बिहार विधानसभा चुनाव में अकेले उतरों। चिराग पासवान ने इस बारे में यह बताया की उन्हें बिहार चुनाव में अकेले उतरने की प्रेरणा उनके पिता रामविलास पासवान ने दी थी। चिराग पासवान ने अपने पिता को याद करते हुए बताया की – “पिताजी हमेशा मुझे यह प्रेरणा देते थे की चुनाव मैदान में अकेले उतरों जिससे पार्टी का विस्तार होगा और पार्टी मजबूत होगी।”

चिराग पासवान को नहीं पसंद नितीश का नेतृत्व

बता दें की बिहार विधानसभा चुनाव तारीख की घोषणा के बाद से ही चिराग पासवान ने बगावती तेवर दिखाना शुरू कर दिए थे। चिराग पासवान को बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमार का नेतृत्व पसंद नहीं हैं। और यही कारण हो सकता हैं की चिराग पासवान ने बिहार विधानसभा में अलग से चुनाव लड़ने का मन बना लिया। हालाँकि चिराग पासवान ने यह भी बताया की उनकी पार्टी भाजपा से साथ बनी रहेगी। साथ ही उन्होंने बिहार में JDU के खिलाफ अपने उम्मीदवार भी मैदान में उतारे हैं। इस फैसले के बाद बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल ने बताया की यह फैसला रामविलास पासवान का नहीं हैं। अगर रामविलास पासवान हमारे बीच होते तो बिहार में LJP अलग से चुनाव नहीं लड़ती। बता दें की केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का बीते गुरुवार को हार्ट सर्जरी के बाद निधन हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top