अपनी बेटी की बीमारी के लिए एक माँ ने दिया अपनी नातिन को जन्म, इस तरह से की उसकी मदद – लोगो ने कहा मां तुझे सलाम।

grand daughter news

सभी महिलाये अपने जीवन में एक बार माँ बनना जरूर चाहती है। हम सभी जानते है की हर महिला को माँ बनने का अधिकार होता है और वह इस खुशी को पाने के लिए कुछ भी कर सकती है। लेकिन कुछ महिलाएँ किसी कारणवश यह सुख प्राप्त नहीं कर पाती है। इसके लिए वह किसी ना किसी का सहारा लेती है। जब उसकी कोई मदद नहीं कर पता है उस समय एक माँ ही उसकी मदद करती है। ऐसी ही एक खबर आपको बताना चाहते है, जिसमे एक बेटी की माँ बनने की इच्छा उसकी माँ ने पूरी की है। 

Brazil news

इन दिनों यह खबर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है, जिसमे एक मां ने अपनी बेटी की जान बचाने के लिए अपनी बेटी की बेटी यानि की अपनी नातिन की जन्म दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ब्राजील की इस मां को जब पता चला कि उसकी बेटी बच्चे को जन्म देने में असक्षम है और उसकी जान जा सकती है। तो उसने इस बात का निर्णय लिया की वह उसके बच्चे को जन्म देगी। इसलिए उसकी जान बचाने के लिए उसने खुद उसके बच्चे को जन्म देने का फैसला लिया। 

ब्राजील की रहने वाली इस महिला ने, ऐसा काम किया है जिसके लिए सभी लोग सरहाना कर रहे है। यहां नानी ने अपनी नातिन को जन्म देकर साबित किया है कि मां अपने बच्चों की भलाई के लिए कुछ भी कर सकती है। 53 साल की रोजिकलिया डी एब्रू कार्सेम ने अपनी बेटी की बेटी को जन्म दिया है। इसके पीछे का कारण उसकी बेटी की बीमारी है। 

Brazil news hindi

आपको बता दे की रोजिकलिया डी एब्रु कार्सेम की 29 साल की बेटी है, जिसे 2014 से पल्मनरी एम्बॉलिज्म नाम की बीमारी है। इसमें शरीर में खून का थक्का जम जाता है. ऐसे में डॉक्टर प्रेग्नेंसी से दूर रहने की सलाह दे रहे थे। अगर रोजिकलिया की बेटी प्रेग्नेंट होती तो जान जाने का ख़तरा था। इसलिए उनकी माँ ने यह फैसला लिया की वह अपनी बेटी के बच्चे को अपनी कोख से जन्म देगी। इसलिए उसने IVF तकनीक का उपयोग करके अपनी बेटी के लिए बच्चे को जन्म दिया। जिसके बाद उन्हें एक बेटी हुई है। 

उन्होंने अपनी इस बेटी का नाम इन्ग्रिड रखा है। आज दोनों माँ बेटी इस ख़ुशी को पाकर बहुत खुश हुई है। इसके लिए उन्होंने अपनी माँ को धन्यवाद दिया है। आज सभी लोग इसके लिए उनकी प्रशंशा कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...