मंदिर में होती है Bullet की पूजा, जाने क्या है कारण।

Bullet Temple Rajasthan

हिन्दू धर्म में कई भगवान की पूजा की जाती है। देश-दुनिया में पूजा के लिए कई तरह के मंदिर बने है और उसमें अलग अलग भगवान की पूजा की जाती है। लेकिन कभी आपने सुना है की, कही पर बुलेट की पूजा होती है। जी हाँ यह सही है आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे है, जहा पर लोगो द्वारा आस्था के साथ बुलेट की पूजा की जाती है। जाने पूरी बात,

बाइक की पूजा के लिए मशहूर है मंदिर

Bullet Temple History

यह मंदिर बाइक की पूजा के लिए मशहूर है। यहां कुछ लोग मंदिरों में माथा टेकने जाते हैं तो कुछ पेड़-पौधों के आगे सजदा करते हैं, भारत देश आस्था का प्रतीक है, यहां पर आपको लोकप्रिय मंदिर (Famous Temple) में देवी-देवताओं के बजाय मोटरसाइकिल की पूजा करते हुए भी लोगों को देखा जा सकता है। यह सुनकर आपको थोड़ी हैरानी हो रही होगी लेकिन राजस्थान में एक ऐसा मंदिर है जहां कई समय से बुलेट की पूजा अर्चना होती है।

राजस्थान में स्थित ओम बन्ना मंदिर

Bullet Temple

यह मंदिर राजस्थान में स्थित है, इसे बुलेट मंदिर (Bullet Temple) के नाम से जाना जाता है, जो ओम बन्ना मंदिर (Om Banna Temple) कहलाता है। यह जोधपुर-पाली हाईवे से 20 किलोमीटर दूर है, इसका इतिहास भी बहुत रोचक है। यह पाली शहर के पास स्थित चोटिला गांव में स्थित है। इस हाईवे से गुजरने वाले सभी लोग यहां रुकते है और इस मंदिर में रखी हुई बुलेट का दर्शन करते है। इस मंदिर को दूर दूर से लोग देखने के लिए आते है।

मंदिर का इतिहास

Om Banna Temple

मंदिर का इतिहास पुराना है, साल 1988 की है, जब पाली (Pali) के रहने वाले ओम बन्ना यह एक राजपूत परिवार से थे, और उनकी उम्र ज्यादा नहीं थी। एक दिन वह अपनी बुलेट से जा रहे थे, रास्ते में ओम बन्ना की बाइक दुर्घटना का शिकार हो गयी, और इस घटना में ओम बन्ना की मृत्यु हो गई थी। ऐसा माना जाता है, की एक्सीडेंट के बाद इस बाइक को पुलिस थाने ले जाया गया, लेकिन यह बाइक वहां से गायब हो गई और जहां दुर्घटना हुई थी उस स्थान पर आ गई। इसके बाद बुलेट (Bullet Bike History) को दूसरी बार दोबारा थाने ले जाया गया, लेकिन यह बाइक वापस उसी जगह पर आ गई। इस दौरान बाइक को पुलिस ने चेन से बांधकर भी रखा था, लेकिन यह वापस उसी स्थान पर आ गयी।

इसके बाद इस घटना को चमत्कार माना गया और उस बाइक को उसी जगह पर स्थापित कर दिया गया। आज उस बुलेट को वही पर रखा गया है, और वहां एक मंदिर बनाया गया है, जिसे ओम बन्ना के नाम से जानते है। यहां के लोग इस मंदिर में पूजा अर्चना करने आते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...