अगर आपकी छाती पर भी है अधिक बाल तो जान ले इसका संकेत – हैरान रह जाओगे।

Chest Hair

एक जमाना था जब मर्दो की छाती के बाल उनकी शान हुआ करते थे लेकिन आज एक जमाना है जिसमे मर्द अपनी छाती पर बाल रखना ही पसंद नहीं करते है और उन्हें शेव करवा लेते हैं। आप नहीं जानते होंगे लेकिन मर्दों की छाती के बाल कई वजह से होते है। उनकी छाती के बाल बताते है की उनके साथ भविष्य में किसी घटना होगी या किसी किस्मत होगी। इसलिए आज हम आपको इस पोस्ट के जरिये बताने वाले है की मर्दो की छाती के बाल किस रहस्य को बताते हैं।

समुद्र शास्त्र के अनुसार किसी भी इंसान के शरीर के किसी भी अंग पर तिल, मस्सा, उँगलियों के नाखूनों का सफ़ेद होना या फिर छाती पर कम या ज्यादा बाल होना उस इंसान के स्वभाव और भाग्य के बारे में बहुत कुछ बताता हैं।

बालों का छाती पर होना क्या बोलता है वैज्ञानिक पहलू

वैज्ञानिकों के नजरिये से देखा जाए तो जब बच्चे के शरीर का उम्र के साथ शारीरिक बदलाव होता है तो 14 से 15 वर्ष की उम्र में उसके चेहरे और छाती पर बाल आने लगते हैं। ऐसा शरीर में बढ़ते हार्मोन्स की वजह से होता हैं। आपके शरीर पर कितने ज्यादा बाल होंगे ये आपके डीएनए पर भी निर्भर करता हैं।

अब आपके पिताजी और दादाजी के शरीर पर कितने बाल थे इसका सीधा असर आपके शरीर के बालों पर भी पड़ता है। बाल की ग्रोथ उसके टेस्‍टोस्‍टेरॉन लेवल पर डिपेंड करती है। टेस्‍टोस्‍टेरॉन में एंड्रोजन की मात्रा जितनी अधिक होगी, शरीर एवं छाती पर बाल भी उतने ही अधिक होंगे।

ज्योतिष शास्त्र क्या बोलता है इस पर

ज्योतिषशास्त्र की माने तो जिस मर्द की छाती पर ज्यादा बाल होते है वह बहुत ही ज्यादा भाग्यशाली होता हैं। वहीं जिस मर्द की छाती पर कम बाल होते है वह किस्मत के मामले में थोड़ा कमजोर होता हैं। छाती पर ज्यादा बाल वाले मर्दों में कई खूबियां होती हैं जैसे की वह भाग्य के घनी होते हैं इसके साथ ही वह भरोसे मंद होते हैं। आप उन पर आँखें बंद करके भरोसा कर सकते हैं।

जिन मर्दो की छाती पर ज्यादा बाल होते है वह दुसरो का मान सम्मान भी अधिक करते हैं। और सच बोलना इन्हें बहुत पसंद होता है। और ईमानदारी इनके रग – रग में समाई होती हैं। साथ ही ये बहुत मेहनती होते हैं। जीवन में इन्हें सफलता प्राप्त होती है। ये एक अच्छे लीडर होते हैं। और ये जीवन में सभी को साथ ले कर चलते हैं। इन्हें मिलजुलकर काम करना बेहद पसंद होता हैं। और इनकी इन्ही आदतों के कारण ये समाज में मान सम्मान भी पाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...