चीन के इंजीनियरों ने 85 साल पुरानी 5 मंज़िला इमारत को चला कर दूसरे स्थान पर शिफ्ट किया

China

क्या आपने कभी इमारत को एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते देखा है। मेरा मानना है, कि आप लोगों ने भी ऐसा कारनामा नहीं देखा होगा। लेकिन आपको बता दूं कि चीन के इंजीनियरों ने इस बात को मुमकिन कर दिखाया है। जी हां! बिल्कुल कुछ समय पहले चीन के शंघाई शहर में इंजीनियरों ने एक पांच मंजिला इमारत को उसी के पैरों के जरिए एक स्थान से दूसरे स्थान पर शिफ्ट कर दिया है और सबसे हैरानी की बात तो यह है कि इमारत को साल 1935 में बनाया गया था। जिसका वजन कुल 7600 टन है। इस इमारत में फिलहाल प्राथमिक विद्यालय चलाया जा रहा था, जिसका नाम लागेना प्राइमरी स्कूल है।

इमारत को तोड़ने का विकल्प भी था।

1935 में बनी इमारत यानी लगभग 50 साल पुरानी इस इमारत को गिराने का भी विकल्प दिया गया था। लेकिन, इंजीनियरों ने इसके मूल स्थान से खिसका कर दूसरे स्थान पर ले जाने का निर्णय लिया। रिपोर्ट के अनुसार यह इमारत जहाँ पहले से खड़ी थी वहां एक नया प्रोजेक्ट यानी कि कमर्शियल ऑफ ऑफिस कंपलेक्स शुरू किया जाना है। जिसके लिए जगह कम पड़ रही थी, इसी कारण इस इमारत को गिराने का विकल्प दिया गया। लेकिन, इंजीनियरों ने अपनी कलाकारी दिखाते हुए, इसे उसके मूल स्थान से खिसका कर दूसरी जगह शिफ्ट करने का फैसला किया।

पूरे 18 दिनों का समय लगा। 

लोकल मीडिया के अनुसार, क्रांकीट से बनी इस विशालकाय और भारी-भरकम इमारत को इंजीनियरों की टीम ने अपनी सूझ-बूझ और तकनीक की मदद से इमारत के नीचे 198 रोबोटिक टांगे लगाकर इसे उसकी मूल स्थान से करीब 62 मीटर दूर लेकर गए। इस काम में कम से कम 18 दिनों का समय लगा। इस प्रोसेस के दौरान कहीं भी कोई नुकसान नहीं हुआ और फिलहाल यह इमारत बिल्कुल सुरक्षित है और हां मैं बता दूं कि अब प्रशासन ने ऐतिहासिक इमारत को संरक्षित रखने का फैसला लिया है।

इस तकनीक का इस्तेमाल पहली बार किया गया। 

वैसे तो इमारतों को खिस्काने में चीन सबसे आगे है। चीन काफी लंबे अरसे से इस तरह के काम कर भी रहा है। लेकिन, इस बार चीन के इंजीनियरों ने कमाल कर दिखाया। इस बार इंजीनियरों ने वाकई में काबिले तारीफ है। बताया गया है, कि इस तकनीक का इस्तेमाल पहली बार चीन के इंजीनियरों ने किसी इमारत को शिफ्ट करने में किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top
error: Please do hard work...