मोदी थकते नहीं, कौन सा टॉनिक लेते हैं? PM का मजाक उड़ाने पर कांग्रेस नेता पर भड़की रुबिका लियाकत।

Rubika liyaquat Supriya

हम सभी जानते है, की सभी विपक्षी दल नरेंद्र मोदी के खिलाफ रहते है और कई मुद्दों पर उन्हें घेरने घेरने की कोशिश करते है। जिसमे महँगाई जासूसी प्रकरण, किसानों के मुद्दे पर सवाल उठाना जैसे कई मामले है, लेकिन आज हम इनके ऊपर किए एक कमेंट के बारे में आपको बताना चाहते है, जिस पर न्यूज़ एंकर रुबीना लियाकत ने बहस छेड़ी है।

Rubika liyaquat

एबीपी दवारा डिबेट शो, ‘हुंकार’ चलाया जाता है, जिसमे बहस चल रही थी। लेकिन इस दौरान कांग्रेस की नेता सुप्रिया श्रीनेत और एबीपी न्यूज की एंकर रुबिका लियाकत के बीच बहस छिड़ गई। शो में सुप्रिया श्रीनेत इल्जाम लगाया कि रुबिका लियाकत सरकार से तीखे सवाल नहीं करती हैं। इसमें उन्होंने कहा कि ‘सरकार से तीखे सवाल पूछे जाते हैं। जैसे क्या लोकतंत्र है।

Supriya

उनके द्वारा कहा गया की आप सरकार से टॉनिक पर सवाल पूछती हैं।’यह बात सुन रुबिका लियाकत भड़क जाती हैं और कहती हैं ‘हां, पूछा था और मुझे उस सवाल पर गर्व है। क्युकी पूरा देश जानना चाहता था कि एक बुजुर्ग क्यों चार-चार घंटे सोने की बात करता है और बचा हुआ समय वह देश के नाम करते है।

Rubika liyaquat

रुबिका लियाकत के द्वारा दिए गए जवाब पर सुप्रिया श्रीनेत ताली बजने लगी और कहा कि ‘क्या पत्रकारिता है.. आपकी पत्रकारिता को सलाम रुबिका जी। सब हंसते हैं। उन्होंने कहा की यह पत्रकारिता नहीं है, हिम्मत है तो सीधे सरकार से सवाल पूछिए। इस पर रुबिका लियाकत फिर से भड़क जाती हैं और कहती हैं ‘थैंक यू सो मच सुप्रिया जी, मैं अपनी कॉफी पर बुलाऊंगी, मेरी पत्रकारिता पर पीएचडी कर लेना।’

एक इंटरव्यू के दौरान रुबिका ने पीएम मोदी से ऐसा सवाल पूछा था जिसकी बहुत आलोचना हुई थी। इस इंटरव्यू में रुबिका ने पूछा था ‘मैं भी इंसान हूं, आप भी इंसान हैं, मेरी भी दी आंखे हैं, आपकी भी दो आंखें हैं। लेकिन में कई बार थक जाती हु। किन्तु आप नहीं थकते। इसका क्या कारण है, क्या आप कोई टॉनिक लेते हैं? इसके पीछे का क्या राज है?

इस पर मोदीजी ने कहा था ‘इस देश में 450 जिले ऐसे हैं जहां मैंने रात्रि में काम किया था। मैंने ट्रेन की पटरी पर रेल के डिब्बों में सफर करते हुए समय गुजारा है। तब भी मैं ऐसा ही कठोर परिश्रम करता था। और आज भी उसी तरह काम करता हु। मुझे जो भी दायित्व मिलता है उसे मैं जी जान से और उत्साह से करता हूं। इसलिए शायद नहीं थकता हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...