कोरोना मरीज कृपया ध्यान दें – ये 8 गलतियां भूल से भी न करे, वरना जान से हाथ धो बैठोगे।

कोरोना मरीज ये गलती न करें

कोरोना महामारी ने देश की हालत बहुत ख़राब कर रखी हैं। लाखों लोग रोज इसकी चपेट में आ रहे है। और हज़ारों मौते रोज हो रही हैं। लेकिन फिर भी लोग नहीं समझ रहे हैं। लोग कोरोना से संक्रमित होने के बाद भी पेनकिलर और एंटीबायोटिक्स जैसी दवाईयां ले रहे हैं। लेकिन आपका बिना डॉक्टर की सलाह के ये सब लेना सही नहीं हैं। और कोरोना मरीज बहुत सारी ऐसी गलतियां कर रहे है जो उन्होंने नहीं करना चाहिए। लेकिन हम नहीं चाहते की ओर भी कोई ऐसी गलती करे इसलिए आज हम इन्ही सारी गलतियों को बताने वाले हैं।

1. जैसा की हम सब जानते है की कोरोना का अभी कोई इलाज आया ही नहीं है। और विशेषज्ञों की भी माने तो उनका भी यही कहना है की कोरोना का अभी कोई इलाज नहीं आया है। डॉक्टर्स बस मरीजों को रिकवर करने और उनकी स्थिति को कंट्रोल करने के साथ ही साथ लक्षणों को रोकने का इलाज करते हैं। इसलिए बेहतर यही होगा की हल्के लक्षण दिखने पर खुद को आइसोलेशन में कर लेना ही बेहतर विकल्प हैं।

2. कोरोना जैसी महामारी में सिर्फ और सिर्फ उसी व्यक्ति को अस्पताल जाना चाहिए। जिसे अस्पताल की सख्त जरुरत हो। जैसे की बुजुर्ग व्यक्ति या किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति।

3. आपको बता दें की सेल्फ आइसोलेशन वाले मरीज बिना किसी डॉक्टर की सलाह के पैरासिटामोल और इब्रुप्रोफेन जैसी बुखार या सिरदर्द से राहत के लिए इन दवाओं या पेनकिलर का उपयोग न करे। क्योकि इनका ओवरडोज़ नुकसान दायक हो सकता है।

4. खांसी होने पर बिना किसी डॉक्टर की सलाह के खांसी का सिरप भी नहीं लेना चाहिए। अगर गले में खराश है तो आप शहद और नींबू को हल्के गर्म पानी के साथ लेकर गरारे कर सकते हैं।

5. एंटीबायोटिक्स से कोरोना का इलाज करने से बचे क्योकि ये दवाईयां कोरोना के इलाह के लिए उपयुक्त नहीं हैं।

6. अगर आप हाथ को साफ़ करने के लिए सेनिटाइजर का उपयोग करते है तो सिर्फ 60% या उससे अधिक ऐलकोहल वाले सेनिटाइज़र का ही उपयोग करे क्योकि इससे कम प्रतिशत वाले सेनिटाइज़र वायरस को नष्ट करने में सफल नहीं हैं।

7. भूल से भी आयुर्वेदिक इलाज के पीछे न भागे। क्योकि इसे लेकर ऑनलाइन कई तरह की अफवाहें चल रही हैं। आपके लिए अभी के समय में यही सही है की इनसे दूर रहे और बिना किसी डॉक्टर की सलाह के कुछ भी ट्राय न करे।

8. शरीर में पानी की कमी को न होने दें। इसका ध्यान खास कर कोरोना मरीज रखे। कोरोना मरीजों को पानी और फाइबर का अधिक उपयोग करना है।

अगर घरेलु उपयोग की बात करे तो कोरोना मरीजों के लिए लहसुन फायदेमंद हो सकता हैं। प्राचीन समय में भी देखा जाए तो अदरक, लहसुन और हल्दी का इस्तेमाल कई बिमारियों को ठीक करने में किया जाता था। आपको बता दें की लहसुन में एलिसन नाम का तत्व होता है जो की शरीर में इम्यून सिस्टम को मजबूत करता हैं। आप चाहे तो इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह के बाद करले। हालांकि लहसुन का भी ज्यादा उपयोग नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top