कोरोना संक्रमित होने के बाद लोगो को क्यों आ रहा हैं हार्ट अटैक? – जाने इसके लक्षण और इलाज

Corona Virus Side Effect

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में जिस तरह से रोज लाखों में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे है उन्होंने हॉस्पिटलों की और स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की धज्जिया उड़ा कर रख दी हैं। और इतने कोरोना पॉजिटिव रोज मिलने के कारण हॉस्पिटलों में जगह नहीं मिल रही हैं। हालाँकि इन सब के बिच हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है की 80 प्रतिशत लोगो को हॉस्पिटल में भर्ती होने की जरुरत ही नहीं पड़ रही हैं। ऐसे लोग अपना इलाज घर पर ही होम आइसोलेशन में रह कर आसानी से करवा रहे हैं। लेकिन कोरोना संक्रमितों को कई तरह के साइड इफेक्ट्स भी देखे गए है जिसकी वजह से हर किसी को डर बना हुआ है।

Heart Attack precaution

कोरोना होने के बाद ऐसे कई मामले सामने आए है जिसमे मरीज पूरी तरह से ठीक होने के बाद उसकी हार्ट अटैक से मौत हो जा रही हैं। इसके साथ ही हार्ट डैमेज होना जैसे कई साइड इफ़ेक्ट देखे जा रहे है। और इसी के बीच ऑक्सफ़ोर्ड जर्नल ने एक स्टडी में बताया है की कोरोना से गंभीर रूप से बीमार लोगों में खारिज 50 फीसदी लोगों का रिकवरी के बाद कुछ महीनों में हार्ट डैमेज हो गया। जिसके चलते उनकी हार्ट अटैक से मौत हो गई। इसलिए कोरोना से ठीक होने के बाद भी लोगों को अपना हार्ट रेट चेक करवाते रहना चाहिए जिससे की कोई लापरवाही न हो और जान का खतरा न बने।

एक्सपर्ट की माने तो कोरोना वायरस के इन्फेक्शन की वजह से शरीर में इंफ्लेमेशन को ट्रिगर करता हैं। जिसकी वजह से मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं। इसके साथ ही धड़कन की गति भी प्रभावित होती हैं और ब्लड काउंटिंग की परेशानी होने लगती हैं।

कोरोना वायरस से हार्ट फेल कैसे हो रहा हैं

Heart Attack Lakshn

कोरोना वायरस की वजह से फेफड़े कमजोर हो जाते है जिसकी वजह से वह मांसपेशियों में खून को उतनी अच्छे से पम्पिंग नहीं कर पाते जितनी की उसको जरुरत हैं। जो की दिल को कमजोर बना देती हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो अगर कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद आपको सीने में दर्द की शिकायत या पहले की कोई हार्ट की परेशानी होती है तो आपके लिए इमेजिंग करवाना काफी जरुरी हो जाता हैं। जिससे की पता चल जाता है की वायरस ने आपकी मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाया है या नहीं। अगर चाहे तो हल्के लक्षण वाले मरीज भी यह करवा सकते है।

हार्ट फेल होने के लक्षण

Heart Attack precaution

आपको बता दे की आप घर बैठे कैसे समझ सकते है की हार्ट में कोई परेशानी है या नहीं। अगर आपको भी सांस लेने में तकलीफ होती है या फिर कमजोरी और थकान होती हैं। और इसके साथ ही पंजे, एड़ी या पैर में सूज आना, हार्ट बीट तेज और अनियमित होना इसके प्रमुख लक्षण हैं। इसके अलावा खांसी और फ्लूड रिटेंशन की वजह से वजन बढ़ना, भूख नहीं लगना और बार-बार पेशाब आना जैसे लक्षण दिखते है तो तुरंत आपको डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top