कोरोना वैक्सीन का टीका हाथों में क्यों लगाया जा रहा हैं ? – जाने एक्सपर्ट से।

Corona Vaccine

देश में टीकाकरण अभियान बड़ी ही तेज़ी से चल रहा हैं। जिसके तहत 18 वर्ष से ऊपर की आयु वाले सभी व्यक्तियों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा रही हैं। भारत में जो वैक्सीन लगाई जा रही हैं वह दोनों दो डोज़ वाली हैं। जिसके कारण हर व्यक्ति को दो बार वैक्सीन लगवाना पड़ रही हैं। दोनों वैक्सीन के बीच का गैप कम से कम 8 हफ्तों का हैं। जो की हाथों पर लगाया जा रहा हैं। अब ऐसे में हर किसी के मन में एक सवाल है की आखिर क्यों यह इंजेक्शन हाथों में ही लगाया जा रहा हैं।

क्यों लगाया जाता है हाथों में टीका ?

Corona Vaccination

लेकिन आप ज्यादा मत सोचिये आपके इस सवाल का जवाब भी हम ले कर आए हैं। अमेरिका के परड्यू यूनिवर्सिटी में नर्सिंग की एसोसिएट प्रोफेसर ने कोरोना की वैक्सीन हाथों में क्यों लगाई जा रही है इसका जवाब दिया है। यह जानकारी देते हुए उन्होंने कहा की कंधे के पास मांसपेशी मजबूत होती हैं। और उसके आसपास इम्यून सेल्स भी होते हैं। जिसकी वजह से टीका लगाने के लिए शरीर का सबसे सही स्थान कंधा ही होता है। और यहां पर इंजेक्शन लगाने से दवा का असर शरीर पर भी जल्द होने लगता हैं। और शरीर वायरस के खिलाफ लड़ाई भी मजबूत कर देता हैं।

Corona Vaccination

आपको बता दे की लिंफनोड्स इम्यून सिस्टम का सबसे अहम भाग होता है। जहाँ पर बड़ी मात्रा में कोशिकाएँ भी होती हैं। जो की वैक्सीन की पहचान करके शरीर को एंटीबॉडीज बनाने के लिए सक्रिय कर देता हैं। मांसपेशी में जो इम्यून सेल्स होते है वह वैक्सीन में मौजूद एंटीजन को लिंफनोड्स तक लेकर जाते हैं। मांसपेशी में टीका लगने के बाद वह दूसरी कोशिकाओं को अलर्ट कर देता है और उन्हें कार्य करने को प्रेरित करता हैं।

विशेषज्ञों की माने तो टीका अगर गलत जगह या मांसपेशी पर लगा दिया जाए तो दर्द ज्यादा होता है और वहां पर सूजन आने की संभावना भी बढ़ जाती है। अगर कोई टीका फैट कोशिका में लगे तो बेचैनी, सूजन का खतरा अधिक होते हैं। वो इसलिए क्योकि फैट टिशू में रक्त का संचार ठीक से नहीं होता है।

बच्चों को जांघों में क्यों लगाया जाता है टीका

Corona Vaccine

अभी हमने बताया की टीका कंधे पर लगाया जाता है लेकिन अब आप सोच रहे होंगे की बच्चों को तो जांघ पर लगाया जाता है। तो इसका जवाब हैं, हां। बच्चों को जाँघों पर लगाया जाता हैं क्योकि इसका निर्णय मांसपेशी के आकार के अनुसार किया जाता हैं। वयस्क और 3 साल से बड़े बच्चों को टीका कंधे पर लगाया जाता है। और छोटे बच्चों को टीका जांघ पर लगाया जाता है वो इसलिए क्योकि छोटे बच्चों के हाथ की मांसपेशी कमजोर और छोटी होती हैं।

और यही कारण है की कोरोना का टीका भी हाथों में लगाया जा रहा है। और टीका लगाने के बाद कई लोगों को बुखार, सूजन व सिर दर्द की शिकायत भी देखने को मिल रही हैं। विशेषज्ञों के अनुसार यह टीका भारी है। और यही कारण है की कई लोगों को ऐसी समस्या हो रही हैं। जो की साधारण बात हैं। लेकिन अगर उल्टी का होना, पेट में दर्द होना व अन्य कोई तकलीफ टीका लगाने के बाद हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...