मिल गई दुनिया की दूसरी पृथ्वी, भविष्य में होगी इंसानों का घर – 3 करोड़ लोग भविष्य में बसेंगे इस पृथ्वी पर।

Second Earth Titan

हम धरती से सिर्फ एक चाँद को ही देखते है, लेकिन हमारे सौर मंडल में 200 से भी ज्यादा चाँद है। आपको जानकार यह यकींन नहीं हो रहा होगा लेकन यह सच है। जिसमें सबसे बड़े चाँद का नाम है, गेनीमेड और यह बृहस्पति ग्रह का चक्कर लगाता है। इसके आसपास और भी कई ग्रह चक्कर लगते है। शनि ग्रह का एक चाँद जिसका नाम है टाइटन (दूसरी पृथ्वी), यह सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा चाँद है। वैज्ञानिको का दांवा है की, यहां इंसानों के लिए काफी कुछ खास है, क्योंकि इस चाँद के पास बहुत घना और बिल्कुल एक ग्रह जैसा ऐटमोस्फेयर यानि वायुमंडल है।

Titan

यह ग्रह पृथ्वी के मुकाबले 600 किमी ज्यादा ऊँचा वायुमंडल है। यह 95% नाइट्रोजन गैस और 5% मिथेन गैस से बना टाइटन का वायुमंडल सौर मंडल में सबसे विचित्र है। इसमें कई गैस के साथ जीवन के लिए जरूरी ऑर्गेनिक मॉलिक्यूल कार्बन और हाइड्रोजन भी मौजूद हैं। यहां पर इनसे काफी तेज हवाएं चलती है, जिसमें प्रकाश भी पैदा होता है। इसी प्रकार हमारी पृथ्वी पर भी ऐसा ही होता है।

टाइटन पर है झीलों का समुद्र

Titan Jhil

इस ग्रह पर पाया गया है की, यहां पर कई सारी मिथेन कि झीलें मौजूद है। 2014 में वैज्ञानिकों ने खोज के माध्यम से अजीब टाइटन की इन झीलों को पाया था। रिसर्च के दौरान यह पता चला है, की झीलों में नाइट्रोजन गैस के बहुत बड़े बबल्स बन जाते हैं, जो कुछ समय के लिए बने रहते हैं और जैसे ही यह बबल खत्म हो जाते हैं, वह आईलैंड भी खत्म हो जाता है। टाइटन हाइड्रोकार्बन से बने हुए टीलों से ढका हुआ है। जिसकी वजह से यह भाप बन कर बादलों की भी रचना करती है।

भविष्य में बसेंगी इंसानी बस्ती

Second Earth

आज वैज्ञानिक सौरमंडल में ऐसे ग्रहो की खोज में लगे है, जहा पर मानव बस्ती बसाई जा सके। टाइटन हमारे सौरमंडल में सबसे अच्छी जगह है जहां पर इंसान अपनी बस्तिया बसा सकते हैं। देखा गया है की टाइटन के समुद्रों में भी जीवन पनप सकता है, यह उसी तरह कार्य करता है, जिस तरह से हजारो साल पहले पृथ्वी पर जीवन हुआ था।

पृथ्वी पर सारे जीव ऑक्सीजन गैस को अपने अंदर लेते हैं, और कार्बन डाइऑक्साइड गैस को रिलीज करते हैं। उसी तरह टाइटन पर भी रहने वाले जीव ऑक्सीजन की जगह हाइड्रोजन गैस को अपने अंदर लेंगे और उसका केमिकल से रिएक्शन कर कार्बन डाइऑक्साइड बाहर करेंगे। इसलिए कहा जा रहा है की इस गृह पर भविष्य में लगभग 3 करोड़ लोग बस सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...