किरायेदार और किराये पर देने वालों के लिए बनाया नया क़ानून, जरूर पढ़ें ये खबर

Model Tenancy Act

हमारे देश में कई कानून नए बनाये जा रहे है, जिसमे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की मीटिंग हुई थी। इसमें किरायेदार और किराये से मकान देने के लिए कुछ कानून में संशोधन किया है, और उनके लिए एक बेहतर फैसला लिया गया है। किराये के कानून जिसे Model Tenancy Act कहा जाता है, को मंजूरी दे दी गई है। इस कानून को मंजूरी मिलने से कई तरह के एक्ट बदल जायेगे, जिसके बाद किरायेदार और देने वाले ओर काफी असर पड़ने वाला है। यह न्य कानून प्रॉपर्टी के मालिक और किराएदार दोनों को फायदा पहुंचेगा। आइये आपको बताते है, नए कानून में क्या है।

Model Tenancy Act

इस कानून के अंतर्गत यदि कोई विवाद होता है। तो उसे सुलझाने के लिए कानूनी अधिकार दिया जाएगा और खास कोर्ट भी बनाए जाएंगे। जहां पर इस तरह के सभी मामलो को निपटाया जा सकता है। इस कानून में किरायेदार किसी की प्रॉपर्टी पर कब्जा नहीं कर सकेंगे और मकान मालिक भी किरायेदारों को घरछोड़ने के लिए परेशान नहीं कर सकेंगे।

इस कानून में कहा जा रहा है, कि मॉडल टिनेंसी एक्ट को या तो नए रूप में लागू किया जाए या जो अभी किराये के लिए कानून है, उसमे ही संशोधन कर इसे मजबूत बनाया जा सकता है।

विस्तार में जाने इस कानून में क्या है।

Model Tenancy Act

  • Model Tenancy Act के तहत मकान मालिक को घर के किसी भी कार्य को करने के लिए किरायेदार को 24 घंटे का लिखित नोटिस अडवांस में देना होगा।
  • किरायेदार को तभी घर से निकाला जा सकता है, जब उसने दो महीने का किराया नहीं दिया हो।
  • कमर्शियल प्रॉपर्टी के लिए ज्यादा से ज्यादा 6 महीने का एडवांस लिया जा सकता है। जबकि घरों को किराये पर देने के लिए यह अवधि २ महीने है।
  • इस कानून को राज्य सरकारें अपनी मर्जी से लागू कर सकेंगी। राज्य सरकारें किराए की प्रॉपर्टी को लेकर किसी विवाद के जल्द से जल्द निपटान के लिए रेंट कोर्ट्स और रेंट ट्रिब्यूनल भी बनाएंगी।
  • अगर अथॉरिटी के पास शिकायत जाने के एक महीने के अंदर किरायेदार बकाया रकम मालिक को दे देता है। तो उसे आगे रहने दिया जाएगा।
  • यदि किसी मकान मालिक को घर खाली कराना है, तो पहले नोटिस देना होगा। इसमें कोई भी किरायेदार प्रॉपर्टी पर कब्जा भी नहीं कर सकेगा।

इस कानून के आने के बाद किरायेदार और मकान मालिक दोनों को ही लाभ मिलेगा और किसी भी मामले में जल्द न्याय हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top