हार्ट अटैक से बचना है तो कोरोना पॉजिटिव लोग दे इन बातों पर खास ध्यान।

How to safe heart attack during corona

देश में कोरोना की दूसरी लहर ने हर तरफ कोहराम मचा रखा हैं। और ज्यादातर देखा जाए तो कोरोना की दूसरी लहर युवाओं के लिए ज्यादा खतरनाक साबित हो रही हैं। और कोरोना से ठीक होने के बाद कई लोगों को हार्ट अटैक की भी परेशानी हो रही हैं कुछ तो ऐसे है जो कोरोना में हार्ट अटैक से अपनी जान तक गवा चुके हैं। लेकिन हर कोई परेशान है की कोरोना आखिर हार्ट अटैक को दे रहा है। चलिए देखते हैं इसके बारे में एक्सपर्ट्स की क्या राय हैं।

हार्ट अटैक से बचने के लिए ये उपचार जरूर करे

Heart Attack Safety

लोगों की कोरोना से हालत ज्यादा ख़राब होने लगती है तो वह हॉस्पिटल में भर्ती हो जाते हैं। लेकिन वह कोरोना के चक्कर में हार्ट की बिमारियों को नजरअंदाज कर देते हैं। और इस पर एक ताज़ा रिसर्च भी की गई हैं जिसमे दिल की बीमारी का इलाज न होने की वजह से कोरोना मरीजों की जान जाने का खतरा पांच गुना अधिक हो जाता हैं। इसलिए कोरोना मरीज को कोरोना के साथ – साथ हार्ट की बीमारी का भी इलाज करवाना जरुरी हैं। अगर आपको हार्ट में कोई परेशानी नहीं भी है तो फिर भी आपको एक बार हार्ट की जांच जरुरी करवाना चाहिए। क्योकि कोरोना शरीर में कई नुकसान पहुंचाता हैं।

लंदन में सेंट थॉमस अस्पताल में कार्डियोवस्कुलर क्लिनिकल फामार्कोलॉजी के प्रोफेसर फिल चिवेंस्की की माने तो परंपरागत रूप से हृदय का कार्य इंजेक्शन अंश के द्वारा मापा जाता हैं। और हृदय के प्रत्येक संकुचन के साथ बाएं वेंट्रिकल पंप से कितना रक्त निकलता है यह सब रिसर्च के नतीजे पत्रिका हाइपरटेंशन में प्रकाशित भी किये गए हैं। बता दे की कार्डियोवस्कुलर रिस्क फैक्टर और इसकी बीमारी को कोविड जोखिम कारकों के रूप में मान्यता दी गई है।

Heart Attack Safety

जानकारी के अनुसार इस मामले की रिसर्च करने वाली टीम ने चीन के वुहान में 129 हॉस्पिटलाइज्ड कोरोना के मरीजों और दक्षिण लंदन में 251 हॉस्पिटलाइज्ड कोरोना मरीजों को ले कर फरवरी और मई 2020 के बीच मृत्यु दर का विश्लेषण किया था।

जिसके बाद प्रोफेसर फिल चिवेंस्की ने इसकी जानकारी देते हुए कहा की – “निष्कर्ष बताते हैं कि अगर हम पहले चरण के इजेक्शन अंश इमेजिंग का उपयोग करके पता लगाए गए हृदय को होने वाली बहुत पुरानी क्षति को रोक सकते हैं, तो लोगों को कोविड जैसे श्वसन संक्रमण से बचने की अधिक संभावना होगी। इसके अलावा स्वस्थ जीवनशैली, बेहतर उपचार, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल के उपचार भी महत्वपूर्ण हो जाते हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top