IAS Interview Question : सड़क किनारे लगे नीले-पीले रंग के पत्थर का मतलब क्या होता है?

IAS Interview Question

हम सभी यात्रा करते है और एक जगह से दूसरी जगह पर जाते है। जन हम लंबी दूरी की यात्रा पर निकलते हैं, तो सड़को पर हमने किलोमीटर के लगे पत्थर जरूर देखे है। लेकिन यह सभी पत्थर अलग अलग रंग के दिखाई देते है, इसमें कुछ नील होते है और कुछ पिले होते है। इसके साथ ही इन पत्थर पर दूरी और स्थान का नाम लिखा होता है। इनके अलग अलग रंग का मतलब हम आपको बताते है। 

पिले पत्थर का क्या मतलब होता है?

yellow milestone

यह पत्थर कुछ जगह पर हरा होता है, कुछ जगह पीला होता है या फिर कोई काला या नारंगी भी होता है। इन पत्थरों को माइलस्टोन कहते हैं। दरअसल, इन रंगों का ख़ास मतलब होता है, जिसके आधार पर इन्हे अलग अलग दिखाया जाता है। अगर आपको किसी सड़क किनारे पर पीले रंग का माइलस्टोन दिखाई दे तो समझ जाइए अप नेशनल हाइवे पर सफ़र कर रहे हैं, इसको दर्शाने के लिए पिले रंग का उपयोग करते है। वर्तमान में करीब 1.01 लाख किलोमीटर तक नेशनल हाइवे का जाल फैला है, जिसकी जिम्मेदारी नेशनल हाइवे ऑथोरिटी ऑफ़ इंडिया पर है। 

हरे रंग का माइलस्टोन

green milestone

अगर आपको रोड पर चलते हुए हरे रंग का माइलस्टोन दिखे तो समझिए वह सड़क स्टेट हाइवे है। जब भी आप स्टेट हाइवे से गुजरते है, तो यहां आपको हरे रंग के पत्थर दिखाई देंगे। इन सभी रोड का निर्माण राज्य सरकारें कराती हैं, और यह उसी के अंतर्गत आते है। इसके आगे SH लिखा भी दिखाई देता है। 

सफ़ेद या काले रंग के माइलस्टोन

black milestone

सड़क पर सफ़ेद या काले रंग के माइलस्टोन डिस्ट्रिक्ट की सडकों के बारे में जानकारी देते है। यह सड़क डिस्ट्रिक्ट लेवल पर बनाई जाती है। जिसका निर्माण लोकल प्रशासन करता है। और यदि आपको सफ़र के दौरान नारंगी कलर का माइलस्टोन दिखे तो आप प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत बने रोड से गुजर रहे है। इस तरह की सड़कें गांवों को शहरों से जोड़ने के लिए बनाई जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...