सत्यनारायण भगवान की कथा में इन 3 लोगो को भूल से भी ना बुलाए, फायदे की जगह नुकसान हो जाएगा।

Satyanarayan Bhagwan Katha

कहा जाता है की घर में सुख, समृद्धि और शांति के लिए हर घर में लोग पूजा पाठ करते है। हर इंसान अलग अलग भगवान को मानते है, लेकिन अक्सर लोग घर में शांति के लिए सत्यनारायण भगवान की पूजा और कथा करते है। कहा जाता है की भगवान वही निवास करते है जहाँ घर शुद्ध, सकारात्मक यानि पॉजिटिव और पवित्र होता है। साथ ही कहा जाता है विष्णु यानि सत्यनारायण भगवान की पूजा करने से घर में पाजिटिविटी बढ़ जाती है और साथ ही विष्णु भगवान के साथ उनकी पत्नी लक्ष्मी का आगमन होता है।

Satyanarayan Bhgwan

अक्सर लोगो का मानना होता है की हर दो से तीन महीनो में घर में विष्णु भगवान की कथा करवाना चाहिए इससे विष्णु भगवान आपके भविष्य को उज्जवल करते है और माँ लक्ष्मी आपको कभी धन की कमी नहीं आने देती। आपने देखा होगा अक्सर लोग हर मास की पूनम को अपने घरो में सत्यनारायण भगवान का पूजन करते है। अगर आप भी अपने घर में सत्यनारायण भगवान की कथा करते है तो आपको भी इन बातो का ख्याल रखना पड़ेगा।

ध्यान रखे आपके घर कथा सुनने जो मेहमान आये उन्हें चाय नाश्ता करवाए, जो पंडित जी आये उन्हें भोजन करवाए और दक्षिणा दे। जब भी आप आपके घर में कथा करे साफ सफाई का अवश्य ध्यान रखे। आज हम आपको इस आर्टिकल में बताने जा रहे है की कथा के समय इन लोगो का बुलाये जिससे आपको फायदे की जगह और नुकसान हो जाये।

Nasedi Log

नशेड़ी इंसान को – इस बात का खास ध्यान रखे जब भी आपके घर में कथा हो ऐसे इंसान को आमंत्रण ना दे जो नशे में हो और कथा में शामिल हो जाये और साथ ही इस बात का ध्यान रखे जो लोग धूम्रपान करते है उन्हें भी समझा दे की कथा के समय धूम्रपान नहीं करे। इसकी वजह ये है की इन सब चीजों से घर में नेगेटिविटी फैलती है और भगवान ऐसे घर में कभी नहीं आते।

Goship women

शांति भंग करने वाले लोगो को – पूजा पाठ में शांति का माहौल ही होता है, ऐसे में आप ऐसे व्यक्ति को ना बुलाये जो शांति से नहीं बैठ सकता। ध्यान रखे की ऐसे इंसान जो झगड़ा करते हो या फिर चीखते चिल्लाते हो, जिससे पूजा पाठ के काम में शांति भंग हो और आपकी कथा व्यर्थ चली जाय।

Period girl

मासिक धर्म वाली महिला को – हिन्दू मान्यताये तो हर कोई जानता है और यह भी जानता है की जब कोई महिला मासिक धर्म में होती है तो वह पूजा पाठ नहीं करती, इसलिए आप इस बात का ध्यान रखे की ऐसे में कोई महिला को कथा में शामिल ना करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...