जिसे हम भारत का सबसे फेवरेट देशभक्ति गीत समझते है, असल में अफ़गानिस्तान देश के लिए गाया गया था – जानिये

indians favourite patriotic song dedicated to afganistan

हम सभी को देश भक्ति गीत बहुत पसंद आते है, जिन्हे सुनते ही हमारे मन में उत्साह की नई लहर जग जाती है। हम सभी ने 15 अगस्त और 26 जनवरी को अक्सर कई देशभक्ति के गीत सुने है। लेकिन आज हम आपको उस गीत के बारे में बताते है, जिसे हम अपना समझ रहे है असल में वह अफगानिस्तान के लिए गाया गया है। 

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐमेरे बिछड़े चमन, तुझ पे दिल कुर्बान

अफ़गानिस्तान की याद में गया यह गाना

indians favourite patriotic song

ऐ मेरे प्यारे वतन, हम सभी को याद है, यह 1961 में गुरु दत्त की फ़िल्म आई थी ‘काबुलीवाला ये फ़िल्म रबीन्द्रनाथ टैगोर की लघु-कथा ‘काबुलीवालापर आधारित थी। इस कहानी में एक फ़ल बेचने वाले की कहानी को दर्शाया, जो हर साल कलकत्ता आता और गली-गली जाकर फ़ल बेचता था। फ़ल बेचने के दौरान काबुलीवाले को एक पांच साल की लड़की मिलती है जिसका नाम मिनी रहता है। जिसे वह रोज़ फल देता और उसके साथ खेलता। एक दिन किसी कारण पुलिस काबुलीवाले को पकड़ कर जेल में डाल देती है। कई सालों बाद रिहा होते ही वो सबसे पहले वो मिनी के घर जाता है। जिसके बाद वह लड़की जवान हो चुकी होती है जिससे काबुलीवाला बूढ़ा उसे पहचान नहीं पाता।

indians favourite patriotic song

जब काबुलीवाला जेल में कैद होता है, उस समय वह अपने वतन काबुल यानी अफ़गानिस्तान को याद करते हुए ये गीत गाता है। जिसमे वहा की झलक को दिखाया गया था। इस गाने का म्यूजिक दिया था सलिल चौधरी ने. और “ऐ मेरे प्यारे वतन” बोल लिखे थे प्रेम धवन जी ने इस गीत को मन्ना डे ने अपनी आवाज़ में गया था। 

इस गीत में लेखक प्रेम धवन जी की जितनी तारीफ़ की जाए उतनी कम है। इस गीत की उन्होंने इतने महीन और सटीक शब्दों के साथ बुनावट की है कि चाहे इस गीत को हिंदुस्तानी सुने या कोई अफगानी यह सभी को पसंद आने वाला है। सभी के दिल में अपनेअपने देश के लिए भाव उमड़ पड़ते हैं, इस गीत की खास बात यह है की इस गाने में कहीं किसी भी मुल्क का नाम लिए बगैर पूरे गाने के कणकण में वतन सरपरस्ती का जो बोध आता है, वो अदभुत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...