माता पिता के अपमान ने बना दिया आईपीएस – कहानी ऐसी की प्रेरित कर देगी।

ips gupteshwar pandey

आज हम आपको बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के आईपीएस बनने के सफर को बता रहे है। उन्होंने किस तरह से अपने इस सफर को एक सफल अफसर के पद तक पहुंचाया।

इनका काम करने का तरीका भी बहुत अलग है, जब पुलिस शराबबंदी में अपराधियों के ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही थी तो वो अलग-अलग इलाकों में लोगों को इसके फायदे समझाने के लिए दौरा कर रहे थे। उन्होंने अपने रिटायरमेंट से ठीक 6 महीने पहले उन्होंने नीतीश कुमार की JDU जॉइन कर ली। लेकिन उनके विधायक बनने का मामला सेट नहीं हो पाया।

आईपीएस बनने की कहानी

ips gupteshwar pandey

गुप्तेश्वर पांडे की आईपीएस बनाने की कहनी बहुत ही अलग है, बचपन में उनके घर चोरी हो गयी थी। तब उनके माता पिता पुलिस में रिपोर्ट लिखवाने गए, तब पुलिस ने इनके माता पिता का अपमान किया और उनकी रिपोर्ट भी नहीं लिखी। उन्होंने तभी से आईपीएस बनने की ठानी और चल रही पुलिस व्यवस्था को दूरस्थ करने के बारे सोचा। उसके बाद उन्होंने संस्कृत में अपनी पढाई को पूरा कर संस्कृत से आईपीएस क्लियर किया।

IRS बनने के बाद आईपीएस बने

ips gupteshwar pandey story

उन्होंने 1986 में संस्कृत में एग्जाम देकर IRS बन गए थे, लेकिन उन्हें यह नौकरी नहीं करना थी इसलिए उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में फिर एग्जाम दी। उसके बाद दूसरे प्रयास में आईपीएस बने। उनके अफसर बनाने के बाद उन्होंने 400 दागी अफसरों को जेल पहुंचाया है। अपने कार्यकाल के दौरान 42 मुठभेड़ को शांत करवाया और भी कई कार्य किये जो सभी को बहुत पसंद आये थे।

कई बार किया लिंक से हटकर काम

ips gupteshwar pandey story in hindi

बिहार डीजीपी रहते हुए वीआरएस लेने वाले गुप्तेश्वर पांडे के आईपीएस बनने की कहानी प्रेरित करने वाली है। उन्होंने कई बार हट के काम किये है, साथ ही पुलिस सेवा में रहते हुए गुप्तेश्वर पांडे ने कई बार ऐसे कार्य किये जो लोगो को काफी पसंद आये है। एक दफा तो डीजीपी रहते हुए मर्डर के सबूत तलाशने के लिए गमछा बांधकर नदी में छलांग तक लगा दी थी, और काफी देर तक साबुत जुटाने के लिए पानी में रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...