एक IPS जो खुद 7 साल रहा सलाखों के पीछे, अब 6 माह में ही घूसखोरी करने वाले अफसरों से भर दी जेल।

IPS Dinesh MN

राजस्थान में आज दिनेश एमएन का नाम सिंघम की तरह लिया जा रहा है। इनका नाम आज एक काबिल आईपीएस, ​रियल लाइफ सिंघम और ईमानदार पुलिस अफसर के रूप में लिया जाता है। आइये हम आपको इसके पीछे के कारण को बताते है। 

एक समय था जब ​खुद आईपीएस दिनेश एमएन सात साल तक सलाखों के पीछे रहे। इसके बाद उन्होंने जेल से बहार आने के बाद राजस्थान भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की कमान संभाली और राजस्थान में घूसखोरों अफसरों को पकड़ने में लग गए है, आज इन्होने कई बड़े और छोटे अफसर को पकड़ा है और जेल में डाल दिया है। 

राजस्थान एसीबी हेल्पलाइन नंबर 1064 जारी किया।

IPS Dinesh

राजस्थान में रिश्वत लेने व देने वालों के खिलाफ राजस्थान एसीबी सालभर कार्रवाई करती रहती है, इसके लिए अलग से शिकायत करने के लिए नंबर जारी भी किया है, लेकिन बीएल सोनी के निर्देशन में आज टीमें हर शिकायत को गंभीरता से ले रही है। और रिश्वत लेने वाले अफसरो के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है।

बड़े अफसरों को पहुंचाया जेल

IPS Dinesh MN

IPS दिनेश एमएन ने बातचीत में बताया है की, यह राजस्थान में पहली बार हुआ है, जिसमे छह माह में ही सरकार की किसी स्टेट एजेंसी ने एक आईएएस, एक आईपीएस, सात आरएएस व तीन आरपीएस को जेल पहुंचाया है। इनको सभी को रिश्वत लेने के इल्जाम में जेल भेजा गया है।  जिसमे कलेक्टर-एसपी और कई आरएएस अधिकारी तो अभी भी सलाखों के पीछे ही हैं।

छह माह में इन 10 बड़े अधिकारी को सलाखों के पीछे पहुंचाया गया।

IPS Dinesh MN

बीएल सोनी के निर्देशन में इन 10 अधिकारियो को जेल पहुंचाया गया है, इसमें

  • आईएएस इंद्रसिंह राव है जिन्हे 11 दिसम्बर 2020 को राजस्थान के बारां जिला कलेक्टर आईएएस इंद्र सिंह राव के निजी सचिव महावीर को एक लाख 40 हजार रुपए की रिश्व्त लेते गिरफ्तार किया गया था।
  • आईपीएस मनीष अग्रवाल को मुम्बई-दिल्ली एक्सप्रेस-वे का निर्माण में दस लाख रुपए की रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया।
  • डीएसपी भैरूंलाल मीणा को 11 दिसम्बर 2020 चौकी पर 80 हजार रुपए की घूस लेने के चलते गिरफ्तार किया गया था।
  • सपात खान, डीएसपी अलवर ग्रामीण कांस्टेबल असलम खान को तीन लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़ा था।
  • कैलाश चंद बोहरा आरपीएस जयपुर में दुष्कर्म पीड़िता के मामले में मदद करने के नाम पर उसकी अस्मत ही मांग ली जिन्हे 2020 में पीड़िता को मिलने के लिए अपने कार्यालय में बुलाया था। तभी एसीबी ने इसे पकड़ लिया।

Story of IPS Dinesh MN

  • दौसा एसडीएम पुष्कर मित्तल व बांदीकुई एसडीएम पिंकी मीणा को दौसा रिश्वतकांड 2021 के सबसे चर्चित मामलों में 14 जनवरी को कंपनी से पांच लाख की रिश्वत मांगने के आरोप में पकड़कर जेल भेजा गया।
  • आरएएस सुनील कुमार, एसडीएम गुढ़ामालानी दस हजार की रिश्वत के ममाले में गिरफ्तार किया गया।
  • वीरेंद्र कुमार आरएएस अधिकारी अनुचित लाभ देने की एवज में चार लाख की घूस लेते हुए एसीबी ने अरेस्ट किया था, जो अभी जेल में है।
  • आरएएस बीएल मेहरड़ा, आरएएस सुनील कुमार शर्मा 11 अप्रैल 2021 को अजमेर रेवेन्यू बोर्ड के दो सदस्य दवारा मुकदमे में घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।
  • आरएएस सुनील झिंगानिया लसाड़िया उदयपुर को 14 जून को एक माइंस मालिक से मासिक पचास हजार रुपये मांगने के मामले में गिरफ्तार किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...