अन्धविश्वास : जिंदा युवक को 12 घंटे के लिए जमीन में गाड दिया – बताया जीवित निकलेगा, लेकिन दोबारा गड्ढा खोदा….

bihar news

हमारे देश में कई लोग अंधविश्वास के नाम पर कुछ भी कर जाते है। आज हम आपको एक ऐसी ही घटना बताने जा रहे है, जिसमे जादू दिखाने के नाम पर शनिवार की सुबह एक युवक की जान चली गई। आइये जानते है पूरा मामला।

यह घटना शेखपुरा के शेखोपुरसराय प्रखंड के वीरपुर गांव की है, यहा का युवक जादू दिखाने का काम करता है, रामलगन रविदास का 18 वर्षीय पुत्र धीरज रविदास था, जादूगर ने धीरज रविदास को जमीन के अंदर 12 घंटे के लिए गाड़ दिया और कहा की यह जिन्दा निकलेगा। लेकिन जब 12 घंटे बाद गड्ढा खोदकर उसे निकाला गया, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद गाँव में कोहराम मच गया और परिवारवाले घबरा गये।

Bihar News

बताया जाता है कि युवक के परिवार का इसी धंधे से रोजी-रोटी चलती है। धीरज रविदास खुद जादू दिखाता था, शुक्रवार की रात वह मधेपुर गांव में अपने साथियों के साथ खेल तमाशा दिखा रहा था, उसके साथ उसके परिवार वाले भी सदस्यों के रूप में कार्य करते थे। जादू दिखाने के क्रम में युवक को जमीन के अंदर गाड़ दिया। उसके बाद यह हादसा हुआ।

पुलिस को करना पड़ा विरोध का सामना

Bihar police

जब पुलिस को इस घटना की सूचना मिली तो बरबीघा थाना के प्रभारी थानाध्यक्ष दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे, यहा युवक के शव को अपने कब्जे में लेना चाहा, लेकिन मृतक के पिता और स्थानीय मुखिया के द्वारा विरोध जताया गया जिसके बाद पुलिस को खाली हाथ लोटना पड़ा।

परिजनों ने शिकायत भी दर्ज नहीं कराई, मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि इसी तरह जादू-तमाशा दिखाकर धीरज और उसके परिवार के सदस्य लोगों का मनोरंजन करते थे लेकिन आज उनके साथ यह हादसा हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...