इन लोगों को नहीं लेना चाहिए कोरोना की वैक्सीन Covishield और Covaxin – जाने पूरी वजह।

Corona Vaccine Kise nhi lena chahiye

जिस तरह से कोरोना भारत में तबाही मचा रहा है उसे देखते हुए भारत सरकार ने 1 मई से 18 साल से ऊपर के सभी व्यक्तियों को टीका लगाने की घोषणा की है। जिसके बाद से कुछ राज्यों को छोड़ कर सभी जगह 18+ वालो को टीका लगाया जा रहा हैं। और जिन राज्यों में अभी 18+ वालो का टीकाकरण शुरू नहीं हुआ है वहां भी बहुत जल्द ही टीकाकरण का कार्य शुरू हो जाएगा। लेकिन लोगों में टीका लगवाने से एक अजीब सा डर भी है की कहीं वैक्सीन लगवाने से साइड इफ़ेक्ट तो नहीं होगा।

क्योकि कुछ ऐसे भी केस सामने आए है जिसमे वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों में अजीब से साइड इफ़ेक्ट आए भी है और इससे कुछ लोगों की मौत भी हो गई हैं। जिससे लोगों के मन में एक डर सा बन गया है। हालांकि दोनों ही वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन ने अपनी फैक्टशीट जारी की है जिसमे बताया गया है की किन लोगों को ये वैक्सीन लगवाना चाहिए।

कोवैक्सीन किन लोगों को नहीं लगवाना चाहिए

आपकी जानकारी के लिए बता दे की कोवैक्सीन का निर्माण भारत बायोटेक ने किया हैं। और कंपनी ने अपनी फैक्टशीट में यह भी बताया है की किन लोगों को कोवैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए या फिर डॉक्टर के परामर्श के बाद ही लगवाना चाहिए। आईये जानते है किन लोगों को नहीं लेना है कोवैक्सीन का डोज़।

  1. जिस किसी भी व्यक्ति को एक विशेष इनग्रीडिएंट से एलर्जी है तो उन्हें यह वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए।
  2. अगर पहली डोज़ लेने के बाद रिएक्शन हो रहा है तो भी उन्हें यह वैक्सीन नहीं लेना चाहिए।
  3. अगर किसी व्यक्ति को कोरोना का घातक असर जैसे की तेज बुखार है तो ऐसे व्यक्तियों को भी यह वैक्सीन नहीं लेना चाहिए।
  4. अगर आपने पहले किसी और वैक्सीन का पहला डोज़ लें रखा है तो फिर आप कोवैक्सीन का दूसरा डोज़ नहीं लें सकते है।

हेल्थकेयर द्वारा बताए गए अन्य गंभीर स्वास्थ संबंधित समस्याओं के बारे में भी वैक्सीन लेने से पहले जान लें।

  1. कोवैक्सीन की फैक्टशीट के अनुसार अगर आप गर्भवती महिला है या ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिला है तो आपको यह वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए।
  2. अगर आप बुखार, ब्लीडिंग डिसआर्डर या ब्लड थिनर्स पर है तो आपको भी कोवैक्सीन न लगवाने की सलाह दी गई हैं।
  3. यदि आप इम्यून सिस्टम को प्रभावित करने वाली दवाई लेते है या फिर इम्यूनोकॉम्प्रोमाइज़्ड है तो फिर आपको कोवैक्सीन नहीं लेना चाहिए।

कोविशील्ड किन लोगों को नहीं लगवाना चाहिए

आपको बता दे की भारत में अभी कोरोना की दो वैक्सीन लगाई जा रही है जो की दोनों ही दो डोज़ वाली हैं। जिसमे पहली कोवैक्सीन और दूसरी कोविशील्ड है। कोवैक्सीन के बारे में तो हमने आपको ऊपर जानकारी दी है अब हम आपको कोविशील्ड के बारे में बताते हैं। जिसका प्रोडक्शन “सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया” ने किया है। और निर्माण ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राजेनेका किया हैं। कोविशील्ड ने भी अपनी एक फैक्टशीट जारी की है जिसमे बताया है की किन व्यक्तियों को यह वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की कोविशील्ड को बनाने में इनग्रेडिएंट एल-हिस्टिडाइन, एल-हिस्टिडाइन हाइड्रोक्लोराइड मोनोहाइड्रेट, डिसोडियम एडिटेट डाइहाइड्रेट (EDTA) और इंजेक्शन के लिए पानी का इस्तेमाल किया गया हैं। और इसकी फैक्टशीट में बताया गया है की किन लोगों को ये वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए या फिर डॉक्टर की सलाह से लगवाना चाहिए।

  1. जो महिलाएँ गर्भवती है या फिर ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली है तो उन्हें यह वैक्सीन लेने से पहले हेल्थकेयर से सलाह लेना चाहिए।
  2. वैक्सीन लगवाने से पहले अपनी पूरी स्वास्थ संबंधित जानकारी डॉक्टर को दे जैसे की एलर्जी की दिक्कत, बुखार, इम्यूनो कॉम्प्रोमाइज़्ड या फिर आपने पहले कोई वैक्सीन ली हो तो वह जानकारी भी अवश्य दे। यह फैक्ट दोनों वैक्सीन की फैक्टशीट में कहा गया हैं।

आपको बता दे की कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों ही बच्चों को नहीं दी जा रही हैं। क्योकि इनका टेस्ट अभी तक बच्चों के लिए नहीं हुआ हैं।

वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स

आपको बता दे की भारत में लगाई जा रही कोरोना की दोनों वैक्सीन के निर्माता भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट दोनों ने ही अपनी-अपनी वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स के बारे में बताया है जिसमे इंजेक्शन लगने वाली जगह पर सूजन आना, खुजली चलना, दर्द, लाल हो जाना, जैसे लक्षण आ सकते हैं। इसके साथ ही हाथ में अकड़न, इंजेक्शन लगने वाले हाथ में कमजोरी, शरीर में दर्द, सर दर्द, बुखार, बेचैनी, थकान, मितली और उलटी जैसे कुछ सामान्य लक्षण दिख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top