क्या आप भी वीकेंड का करते रहते हैं इंतजार? इस Video को देखने के बाद आपको मिल जाएगा जवाब

Do You Also Waiting For Weekend

वर्क लाइफ बैलेंस को मेंटेन करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म क्रू (KOO) एप पर सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने एक वीडियो शेयर किया जिसके लिए उन्होंने एक कमाल का उदाहरण लोगों को दिया।

रोजमर्रा के जीवन में हमारे कामकाज से हम इतने फ्रस्टेड हो जाते हैं। जीवन के सुकून के लिए हम कुछ भी करने को तैयार रहते हैं कामकाज ओर ऑफिस वर्क वाले लोग इतना परेशान हो जाते हैं कएल शांति से बैठने के लिए कोई जगह ढूंढते हैं और ज्यादातर लोग वीकेंड का इंतजार करते हैं। ताकि आराम से घर बैठ सके। यह समस्या से भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोगों में भी वीकेंड का इंतजार रहता है इसके लिए वर्क लाइफ बैलेंस को मेंटेन करने के लिए सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने एक जबरदस्त उदाहरण पेश किया।

सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने कही यह बात

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू ऐप पर सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्होंने समझाया कि कई साल पहले अमेरिका में उनके एक मित्र उन्हें एक रेस्टोरेंट ले गए. उस रेस्टोरेंट का नाम टीजीआईएफ (TGIF) था. सद्गुरु ने अपने मित्र से पूछा टीजीआईएफ का क्या मतलब है? उनके दोस्त ने जवाब दिया कि इसका मतलब होता है, ‘थैंक गॉड, इट्स फ्राइडे’ (Thank God It’s Friday). इसके बाद उनके मित्र ने कहा कि शुक्रवार दोपहर का मतलब होता है कि लोगों ने अब लगभग काम करना बंद कर दिया है और अब होने वाली पार्टी के बारे में सोच रहे हैं।

क्रु एप पर देखे जाने वाला यह वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है इस वीडियो को अब तक 700 से अधिक लोगों ने लाइक भी किया और इस पर लोग लगातार कमेंट करते नजर आ रहे हैं।
इस बात को सुनकर सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने इसका मतलब बताते हुए कहा कि वे लोग अब हर हफ्ते वीकेंड के लिए ही जी रहे हैं. एक व्यक्ति जो पूरे सप्ताह भर काम के बोझ से परेशान रहता है, वीकेंड का इंतजार करता है. ऐसा क्यों? अगर आप जो कर रहे हैं वो आपकी जिंदगी नहीं है, तो कृपया ऐसा न करें. जिस पल हम पैदा होते हैं और जब तक मरते नहीं, हम तब तक केवल जिंदगी, जिंदगी और जिंदगी जी रहे होते हैं और कुछ भी नहीं, केवल जिंदगी. काम मौत की तरह नहीं होना चाहिए.

Back To Top
error: Please do hard work...