हिंदू धर्म में 33 करोड़ देवी देवता नहीं बल्कि इतने होते हैं, जाने कैसे पैदा हुई ये गलतफहमी।

Hindu Dharm

हिंदू धर्म एक बहुत बड़ा धर्म है इस हिंदू धर्म में अलग-अलग जाति समाज के लोग होते हैं। हर किसी का अपने धर्म को मानने का तरीका और देखने का नज़रिया अलग होता है। हिंदू धर्म में ऐसा ही है। यहां आपको कई प्रकार के भगवान और उन्हें पूजने की अलग अलग रस्में देखने को मिल जाती है। हमारे धर्म ग्रंथों में भी भगवान को लेकर हर प्रकार की जानकारियां उपलब्ध है। इसमें भगवान की उत्पत्ति और इतिहास सब शामिल हैं।

हिंदू धर्म में बहुत से भगवानों की पूजा की जाती है हर देवी देवता का एक अलग मंदिर भी होता है। वहीं कुछ मंदिर ऐसे भी होते हैं जिसमें कई सारे देवी देवताओं के दर्शन एकसाथ करने को मिल जाते हैं। लोग अपने धर्म के भगवानों की दिल से पूजा करते हैं।

अपने धर्म की जानकारी अक्सर सभी लोगों को होती है। लेकिन कभी-कभी कुछ जानकारी गलत भी होती है। हम सब यही जानते हैं कि भगवानो की संख्या अनगिनत है लेकिन प्राचीन काल से ही यही बोला जाता है कि हिंदू धर्म में 33 करोड़ देवी देवता होते हैं।

आइये इस बारे में कुछ चीजें विस्तार से जाने

पुराने समय में सभी श्लोक संस्कृत में होते थे और इसमें 33 कोटी देवी देवताओं का जिक्र था।इस संस्कृत के कोटि शब्द से ही सारी गलतफहमियां उत्पन्न हुई है। संस्कृत से आये इस कोटि शब्द के दो अर्थ होते है “प्रकार” और”करोड़ “। ऐसे में जब बात देवी देवताओं की संख्या की आती है तो इसमें कोटी शब्द का मतलब प्रकार से है। लेकिन कुछ लोगों ने इसे करोड़ समझ लिया।

Hindu Dharm

इन 33 प्रकार में प्रमुख देवी देवताओं के नाम कुछ इस प्रकार है जिनके नाम हम आपको बताने वाले हैं। जिसमे 12 प्रकार के आदित्य, 8 प्रकार के वसु, 11 प्रकार के रुद्र और 2 प्रकार के अश्विनी कुमार।

12 आदित्य के नाम – 1. धाता, 2. मित, 3. अर्यमा, 4. शक्र, 5. वरुण, 6. अंश, 7. भग, 8. विवस्वान, 9. पूषा, 10. सविता,11. त्वष्टा, 12. विष्णु है।

8 वसु के नाम इस प्रकार हैं – 1. धर, 2. ध्रुव, 3. सोम, 4. अह, 5. अनिल, 6. अनल, 7. प्रत्युष, 8. प्रभाष

11 रुद्र के नाम यह हैं – 1. हर, 2. बहुरूप, 3. त्र्यम्बक, 4. अपराजिता, 5. वृषाकपि, 6. शम्भू, 7. कपर्दी, 8. रेवत, 9. म्रग्व्यध, 10. शर्व, 11. कपाली।

2 अश्विनी कुमार के नाम 1. नासत्य, 2. द्स्त्र हैं।

अब आप सच्चाई जान चुके हैं। हमारे हिंदू धर्म में 33 करोड़ देवी देवता नहीं बल्कि 33 प्रकार के देवी देवता हैं। आप इन सभी को दिल से पूज सकते हैं। ध्यान रहे कि ये सिर्फ देवी देवताओं के प्रकार हैं। देवी देवताओं की संख्या नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...