यूरोपियन और अमरीकन महिलाओ के साथ न्यू*ड पार्टी करते थे महाराजा पटियाला

Maharaj patiyala

आप भी जानते है की पुराने समय के कुछ राजा महाराजा अपने शौकीन मिजाज से ही जाने जाते थे उन्ही में से एक पटियाला रियासत के महाराजा भूपिंदर सिंह (महाराजा पटियाला) है, यह भी अपने रंगीन मिजाज के लिए जाने जाते है। आपको आज हम बताने जा रहे है की इनके रंगीन मिजाज का जिक्र भूपिंदर सिंह के दीवान जरमनी दास ने अपनी किताब “महाराजा” में किया है।

Maharaj Patiyala

आपको बता दे की महाराजा भूपिंदर ने पटियाला में अपनी रंगरलियों का महल “लीला भवन” बनवाया था और यहाँ पर सिर्फ निर्वस्त्र लोगो को ही प्रवेश का मौका दिया जाता था। इस महल में महाराजा के लिए एक खास कमरा था जहाँ की दीवारों पर चारो तरह सेकड़ो आसनो में प्रेम प्रलापों में दुबे पुरुष महिला को चित्रित किया गया है।

Maharaj Patiyala Lifestyle

इस कमरे की फर्श पर कीमती जवाहरात से जड़े मोटे कालीन बिछे है और महाराजा के लिए उनके भोग विलास का सारा सामान मौजूद है। यहाँ तक की महल के बाहर एक “स्विमिंग पूल” भी है जिसमे एक साथ 150 लोग स्नान कर सकते थे और खुलेआम यहाँ रंगरलियां चलती थी और पार्टियों में महाराजा उनकी प्रेमिका को बुलाते थे।

Maharaj Patiyala Lifestyle

वे लोग महाराजा और उनके खास लोगो के साथ उस तालाब में स्नान करती थी। इनमे राज्य के अंग्रेज अधिकारी और देसी महिलाये भी होती थी। दीवान जरमनी दास ने महाराजा, महारानी नामक बेस्ट सेलर किताबे लिखी है। ऐसी पार्टियों में ‌कुछ खास मौकों पर सिर्फ़ यूरोपियन या अमरीकन लेडी ही आती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...