अगर नहीं जानते महिला नागा साध्वी के ये सच – तो अभी पढ़िए हैरान करने वाले सच।

Mahila Naga Sadhvi

आप सब ये बात नहीं जानते होंगे आज हम आपको ऐसी अंजानी बात बताने जा रहे हैं जो आप सुन कर चौंक जायेंगे। क्या आप जानते है की एक महिला भी नागा साधु बन सकती है। नहीं जानते होंगे, तो आज हम आपको बताते हैं की कैसे और क्यों बनती हैं महिलाएं नागा साधु, इसके पीछे क्या कारण हैं।

कैसे बनती है नागा साध्वी

Mahila Naga Sadhvi

दरअसल ये बात इस लिए सामने आयी क्योंकि इस बार कुम्भ मेले में महिला नागा साधु भी शामिल हो रही हैं। ये बात सच है और ये भी सच है की एक महिला नागा साधु की जिंदगी पुरुष नागा साधु जैसी ही होती हैं। आईये देखते है एक महिला कैसे नागा साध्वी बनती हैं उसके लिए उसे क्या क्या करना पड़ता हैं।

क्या-क्या करना होता है नागा साध्वी को

Mahila Naga Sadhvi

एक महिला को नागा साधु बनने के लिए पुरे ब्रह्मचार्य का पालन करना चाहिए, अगर वह महिला पुरे ब्रह्मचार्य का पालन कर पा रही है तो ही वह नागा साध्वी बन सकती हैं और इस बात का फैसला उनकी गुरु करती हैं। फिर उसके बाद उस महिला को अपना मुंडन करवाना पड़ता हैं और यह साबित करना पड़ता है की वह सांसारिक धर्म से अलग हो चुकी हैं। उन्हें अब इस दुनिया में किसी से मोह नहीं हैं।

Mahila Naga Sadhvi Snan

आपको नहीं पता होगा की कुम्भ में नागा साधुओं के साथ महिला साध्वी भी शाही स्नान करती हैं और उन साध्वियों को पूरा सम्मान दिया जाता हैं। ये साध्वी दिन भर भगवान का स्मरण करती हैं और भगवान शिव का जप करती हैं और भोजन करने के बाद थोड़ी देर ही आराम करती हैं। सबसे बड़ी बात यह है की एक महिला को नागा साध्वी बनने से पहले खुद का तर्पण करना पड़ता है यानि खुद को मरा साबित करना पड़ता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top