इन पांच बातों को लेकर पुरुष को कभी नहीं होना चाहिए शर्मिंदा, जानिए क्यो?

man dont guilty for this things

हम कई बार हमारी गलती नहीं होने के कारण भी शर्मिंदा हो जाते है। हो सकता है, उस कार्य के पीछे आपकी गलती ना हो हर सिक्कें के दो पहलू होते हैं। समाज में कुछ पुरुष और स्त्री ऐसे भी होते हैं, जो ग़लत कामों से बाज़ नही आते जिसका खामियाजा उनको भुगतना होता है, जिन्होंने कुछ किया ही नहीं हो।

sad life

क्या आपने कभी पुरुष होने की वजह से शर्मिंदगी महसूस की है? तो हम आपको कुछ बाते बताने जा रहे है, जिन बातो के लिए पुरुष को कभी शर्मिंदा नहीं होना चाहिए। आज दुनिया ऐसे लोगों से भरी हुई है जो, अपनी मनचाही चीज को हासिल करने के लिए कई तरह के जोड़-तोड़ करते हैं। इसी क्रम में वो दूसरों को चोट या नुकसान पहुंचाने से भी बाज नहीं आते हैं। ऐसे में आपको इन बातो का जरूर ध्यान रखना चाहिए।

डर लगना

scared man

डर लगना कोई बुरी बात नहीं है, सभी लोगो के लिए दर की अलग अलग स्थति होती है, जिसमे डर लगना स्वाभाविक है। यदि आपके सामने भी कोई ऐसी स्थति हो तो आपको इसके लिए शर्मिंदा नहीं होना चाहिए। अगर डर लगता है तो डटकर उसका सामना कीजिए। और इसमें शर्मिंदगी की कोई बात नहीं है।

अपना स्पेस बनाए रखें

space

सभी लोगो को अपने स्पेस की जरूरत होती है। आप चाहे रिश्ते में हैं या पार्टनर आपकी हर सेकेंड की एक्टिविटी के बारे में जानना चाहती है, तो यह गलत है। आपको इसमें बिना शर्मिंदा हुए इसके लिए बात कर सकते है। सभी को अपनी निजी स्पेस की जरूरत होती है। इसलिए इस बात के लिए आपको शर्मिंदा होने की आवश्यकता नहीं है।

किसी को याद करना

sad feel

कई बार कुछ लोग हमारी जिंदगी से बहुत दूर चले जाते हैं। काफी याद आते है। लाइफ में ब्रेकअप जैसे मोमेंट भी आ जाते हैं। ये लम्हें जिंदगी को झकझोर कर रख देते हैं। किसी को बहुत ज्यादा याद करने वाले इंसान को कमजोर समसमझा जाता है। लेकिन इस बात के लिए आपको शर्मिंदा होने की आवश्यकता नहीं है।

ईर्ष्यालु होना

man

ईर्ष्यालु होना गलत है, लेकिन यह मानव का प्राकृतिक स्वभाव है। हम सभी को कभी न कभी किसी न किसी से ईर्ष्या जरूर होती है। अक्सर ईर्ष्या की भावना का विकास होता है, ये बेहद स्वाभाविक प्रक्रिया है। अगर आपके मन में ईर्ष्या जैसी भावनाएं हैं तो इसे सकारात्मक तरीके से ही ले और आगे बढ़ने की कोशिश करें।

किसी से मदद मांगना

needy man

हम सबसे ज्यादा शर्मिंदा किसी से मदद मांगने पर होते है। लेकिन मदद लेना और मदद करना कोई बुरी बात नहीं है। जिंदगी में ऐसे पल आते हैं, जब उसे किसी से मदद मांगनी पड़ती है। इसलिए इसमें संकोच नहीं करना चाहिए, किसी से ली गई मदद आपकी जिंदगी को नए सिरे से स्टार्ट करने में मदद करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top
error: Please do hard work...