संगीत से मिली खोई हुई याददाश्त, Corona Treatment में लाभदायक

Music Therapy

इलाज से आपने लोगों को ठीक होते हुए देखा है, हम आपको संगीत के माध्यम से ठीक हुए लोगों के बारे में जानकारी देने जा रहे है। राजकोट में रहने वाले 80 साल के तुलसीदास सोनी कोरोना संक्रमण से पीड़ित हुए और इस बीच उनकी इलाज के दौरान याददाश्त भी चली गई (Memory Loss) लेकिन सिर्फ म्यूजिक थेरेपी ट्रीटमेंट के माध्यम से उनकी खोयी हुई याददाश्त लौट आई। पूरी खबर को निचे देखे-

Music Therapy Treatment

संगीत सभी को सुनना पसंद होता है, यह ईश्वर की देन है। इसे निर्बाध स्रोत माना जाता है, संगीत में किसी भी व्यक्ति के दिमाग को प्रभावित करने की ताकत होती है और यह बीमार व्यक्ति को ठीक भी कर सकता है। लेकिन अगर हम आपसे कहें कि सिर्फ म्यूजिक के द्वारा खोई हुई याददाश्त वापस आ गई तो क्या आप यकीन करेंगे? ऐसा ही विचित्र वाकया हुआ है, एक 80 साल के व्यक्ति की याददाश्त संगीत के जरिए ठीक हो गई।

संगीत के द्वारा ताजा हुईं यादें

Music Therapy Treatment

राजकोट में रहने वाले 80 साल एक वृद्ध जिनका नाम तुलसीदास सोनी (Tulsidas Soni) है। कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary Heart Disease) के कारण अपनी याददाश्त खो चुके थे, लेकिन म्यूजिक थेरेपी (Music Therapy) के जरिए उन्होंने अपनी याददाश्त को दोबारा पाया है। उन्होंने इसके लिए रफी के गाने सुनकर अपनी याददाश्त वापस पा ली। तुलसीदास सोनी ने अजमेर समेत कई जगहों पर मंच पर ‘रफी की आवाज’ बनकर 60 साल तक लोगों का मनोरंजन किया है। उन्हें वहां के लोग अजमेर के मोहम्मद रफी के नाम से भी जानते है। 15 अप्रैल को कोरोना से गंभीर रूप से संक्रमित हो गए थे, जिसके बाद उनके फेफड़ों को 50 प्रतिशत Infection फेल गया। और उनकी इसी बीच याददाश्त चली गई।

Music Therapy

तुलसीदास की बेटी भावनाबेन और उनकी भाभी दीपा सोनी ने इन परिस्थितियों में याददाश्त को पुनः लाने के लिए, उनके संगीत के प्रति जुनूनी लगाव का इस्तेमाल किया। उन्हें उनके पसंद के भजन ओर गाने सुनाये गए, उन्हें सबसे पहले हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) सुनाया गया, उसके बाद होश में आकर हनुमान चालीसा का पाठ करना शुरू कर दिया, फिर कृष्णा ने पिता को रफी का गाना सुनकर पूछा कि क्या उन्हें यह गाना याद है, और उन्होंने गाने को पहचान लिया और गाने लगे। इस तरह से उन्होंने संगीत में माध्यम से अपनी याददाश्त को पा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...