1 अक्टूबर से बदल जाएगा Online Payment का तरीका, जानें कैसे होगा अब Payment?

New Online Transaction Rule

सितंबर महीना समाप्त होने वाला है और अक्टूबर महीना आने वाला है। इसके बाद कई नियमों में बदलाव भी होने जा रहा है। अगर आपके पास आ क्रेडिट या डेबिट कार्ड और आप उस के माध्यम से पेमेंट करते हैं, तो आपको जान लेना चाहिए कि इसमें कुछ तरीकों में बदलाव होने जा रहा है। 

दरअसल रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का कार्डऑनफाइल टोकनाइजेशन नियम लागू होने वाला है इसमें एक और कार्ड होल्डर्स के पेमेंट करने के अनुभव में सुधार आएगा वहीं दूसरी तरफ डेबिट कार्ड ट्रांजैक्शन पहले से कहीं ज्यादा सुरक्षित हो जाएंगे। 

क्या है टोकनाइजेशन सिस्टम

New Online Transaction Rule

भारतीय रिजर्व बैंक 1 अक्टूबर से टोकेनाइजेशन सिस्टम लागू करने जा रही है। जिसके माध्यम से कोई भी डेबिट या क्रेडिट कार्ड यूज़ अ पॉइंट ऑफ सेल मशीन ऑनलाइन या फिर किसी ऐप से पेमेंट करेंगे तो उनके कार्ड के डिटेल्स इंक्रिप्टेड तोक अंश के रूप में स्टोर होंगे। यानी कि साफ है कि, कोई भी पेमेंट है कंपनी आपके क्रेडिट या डेबिट कार्ड का डाटा स्टोर नहीं कर पाएगी। इसके बदले पेमेंट कंपनियों को एक वैकल्पिक कोड देना होगा जिसे टो का नाम दिया गया है। 

इस तरह से काम करेगा सिस्टम

टोकनाइजेशन सिस्टम लागू होने के बाद पेमेंट कंपनियों को आपके कार्ड के बदले वैकल्पिक कोड या टोकन देना होगा, जो कि यूनि।होंगे और कई कार्ड के लिए एक ही टोकन का इस्तेमाल हो सकेगा। इससे भुगतान का तरीका बदल जाएगा, क्योंकि ऑनलाइन पेमेंट करते समय आपको अपना कार्ड देने के बजाय सिर्फ यह यूनीक टोकन यूज करना होगा।

भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी App और बेंको को कार्ड विवरण के लिए टोकन तैयार करने के लिए आदेश जारी कर दिए हैं। अभी तक ग्राहकों के डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जानकारी लीक होने से उनके साथ गलत होने का खतरा बना रहता है। इसलिए इस तरह की व्यवस्था लागू की गई है। 

कोई एक्स्ट्रा चार्ज नही

इस नई सुविधा का लाभ लेने के लिए सर को किसी तरह का कोई एक्स्ट्रा चार्ज देने की आवश्यकता नहीं है या यूजर पर निर्भर करेगा कि वह किस तरह से कार्ड का उपयोग करना चाहते हैं। यदि वह पुराने तरीके से ही पेमेंट को जारी रखना चाहते हैं, तो भी कर सकते हैं और नए ग्राहक टोकन नहीं बनाना चाहते हैं, तो वह लेनदेन करते समय मेनुअल कार्ड डिटेल दर्ज करके पहले की तरह कर सकते हैं। 

Back To Top
error: Please do hard work...