कुदरत का करिश्मा : महिला ने एक साथ दिया सात बच्चों को जन्म – सभी बच्चे जीवित और सुरक्षित।

Pakistan news

आज हम आपको पाकिस्तान की खबर को बताने जा रहे, जहा एक महिला ने एक साथ 7 बच्चो को जन्म दिया है। एक साथ इतने बच्चो का जन्म होना किसी चमत्कार से कम नही है।

यह खबर पख़्तूनख़्वा के ऐबटाबाद शहर की है, जहा मोहम्मद नाम के शख्स के यहा चार बेटे और तीन बेटियां हुई है। उनका कहना है की इन बच्चो के जन्म से वह बहुत ख़ुश हैं।

आपको बता दे की यार मोहम्मद बटग्राम ज़िले के रहने वाले हैं, उनकी पत्नी ने निजी मेडिकल कॉलेज के जिन्ना इंटरनेशनल टीचिंग हॉस्पिटल में सात बच्चों को जन्म दिया है। अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक़, सभी नवजात शिशुओं और उनकी मां की हालत स्थिर है।

ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर भी हैरान रह गए

Pakistan News

ऐबटाबाद के जिन्ना अस्पताल में गायनोकोलॉजिस्ट डॉक्टर हिना फ़ैयाज़ के अनुसार, महिला उनके पास पहली बार शनिवार को आई थीं, उन्होंने बताया की “अल्ट्रासाउंड और अन्य रिपोर्टों से हमें पता चला कि उनके गर्भ में पांच बच्चे हैं, और गर्भावस्था को आठ महीने बीत चुके थे।”

डॉक्टर हिना फ़ैयाज़ बताती हैं कि उस दिन उनकी ड्यूटी ओपीडी में थी, उन्होंने बताया की अपने विभाग की प्रमुख प्रोफ़ेसर डॉक्टर रुबीना बशीर से बात की, उन्होंने तुरंत ऑपरेशन करने की सलाह दी थी। इतने बड़े ऑपरेशन के लिए इमरजेंसी स्तर पर तैयारी की गई। बाल रोग वॉर्ड के विशेषज्ञ डॉक्टरों को इमरजेंसी कॉल दी गई। इसमे तीन जूनियर टीएमओ डॉक्टर शहीला, डॉक्टर मरियम और डॉक्टर राबिया के अलावा पैरामेडिक्स और एनेस्थीसिया के डॉक्टरों ने भी मदद की थी। उसके बाद इन बच्चो का सफलतापूर्वक ऑपरेशन किया गया।

Pakistan viral News

अल्ट्रासाउंड में अक्सर बच्चों की सही संख्या का पता नहीं चलता है, उन्हें 6 बच्चो के बारे में पता चला था, किट भी छह बच्चों के लिए तैयार की हुई थी, लेकिन जब बच्चों को माँ से अलग करना शुरू किया, तो पता चला कि ये तो सात बच्चे हैं।

डॉक्टर का कहना है की, आम तौर पर ऐसा बहुत कम होता है कि सभी बच्चे जीवित और स्वस्थ हों। बच्चों को अस्पताल के नर्सरी में और मां को आईसीयू वॉर्ड में शिफ़्ट कर दिया गया है, जहां बच्चे और मां की हालत स्थिर है। बच्चो के परिवार वाले भी बच्चो की देखकर बहुत खुश हो रहे है। इस तरह के मामले बहुत कम देखने को मिलते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...