यहां 500 सालों से पुरुष बना रहे है खाना, जाने इस गांव में पुरुष क्यों बनाते है खाना।

Kalayur Village

हमारे देश में महिलाओ द्वारा स्वादिष्ट खाना बनाने की परम्परा है। लेकणि पुडुचेरी (Puducherry) के कलायुर गांव में पुरुषों द्वारा रसोई घर चलाया जाता है। इस गांव को ‘विलेज ऑफ कुक्स’ के नाम से भी जाना जाता है। यह प्रथा 500 सालों से चल रही है, आइये आपको इस गांव के बारे में विस्तार से बताते है।

Kalayur Village Puducherry

आपने देखा होगा आमतौर पर किचन में खाना महिलाओं द्वारा बनाया जाता है। हर घर में युगों से स्त्रियां ही रसोई संभालती हुई नजर आ रही हैं, लेकिन भारत के इस एक गांव में पुरुष काफी समय से खाना बना रहे है। यह बात बिल्कुल सच है, इसके पीछे भी एक कारण है, जिसके चलते यहां के पुरुष खाना बनाते है।

सदियों से पुरुष संभाल रहे हैं किचन

Kalayur Village Puducherry

पुडुचेरी के इस गांव कलायुर में पुरुषों को किचन का राजा माना जाता है। यहां के पुरुष पिछले 5 सदियों से लगभग 500 सालों से यहां के रसोईघरों में खाना बनाते आ रहे है। यह गांव पुडुचेरी से 30 किलोमीटर दूर है और यहां के हर घर में एक बेहतरीन पुरुष बावर्ची आपको मिल जाएगा। यहां करीब 80 से 100 घऱ है और यहां पुरुष द्वारा खाना बनाने की परम्परा सदियों से चली आ रही है।

इस गांव में 200 पुरुष के लगभग सभी खाना बनाते है, और यह एक बेहतर कुक है। इसके लिए उन्हें पहले से काफी सीखना होता है। बेहतरीन कुक बनने के लिए यहां के पुरुष को 10 साल की लंबी ट्रेनिंग लेना जरूरी है. हर रेसिपी की जानकारी उन्हें चीफ शेफ द्वारा दी जाती है। इसके बाद यहां के पुरुष शादियों का आर्डर लेते है, और कई लोगो का खाना एक साथ बनाते है।

पुरुषों ने बावर्ची बनना स्वीकारा

गांव के बुजुर्ग द्वारा बताया गया की पुराने समय में खेती करना बहुत कठिन होता था, इसके लिए यहां के पुरुषों ने बावर्ची बनना ही बेहतर समझा। इसके साथ ही यह परम्परा अब तक चली आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...