सिद्धू ने अमरिंदर सिंह को दिया करारा झटका, छीन ली पंजाब कांग्रेस की कमान।

punjab congress

राजनीती के गलियारे में कुछ भी सम्भव है और हमेशा कुछ ना कुछ उथल पुथल चलती रहती है। वर्तमान में सोनिया गांधी ने नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया गया है। इसके लिये उन्हें पंजाब की कमान सौंपी गयी है। इस लिस्ट में सिद्धू के अलावा चार नेताओं को कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाया गया है, जो अब पार्टी के लिए कार्य करेंगे। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी किए गए पार्टी सर्कुलर में इस बात की जानकारी दी गई है।

सुनील जाखड़ को हटाकर नवजोत सिंह सिद्धू को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया

siddhu

इसके पहले पंजाब में सुनील जाखड़ इस पद पर थे जिन्हे हटाकर नवजोत सिंह सिद्धू को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। इसके साथ ही नए चार कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाए गए हैं। इनके नाम संगत सिंह गिलजियां, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा हैं। इसके साथ ही वेणुगोपाल ने हटाए गए सुनील जाखड़ को धन्यवाद करते हुए सर्कुलर में इनके कार्यों की तारीफ भी की। इसके साथ ही अब पंजाब में यह साफ़ हो गया है की, कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। 

कैप्टन को लगा झटका

siddhu amrinder

पंजाब में सिद्धू को कैप्टन बनाये जाने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह को बड़ा झटका लगा है। वह नहीं चाहते थे कि सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए और उन्हें पंजाब की कमान सौंपी जाए। इसके लिए उन्होंने सोनिया गांधी से भी बात की थी और फैसला वापस लेने को भी कहा था। लेकिन सोनिया गांधी ने हर पहलू को देखते हुए सिद्धू को पार्टी की कमान सौंपी दी है।

सिद्धू गए थे दिल्ली मिलने

siddhu in delhi

इनके मिलने से पहले सोनिया गाँधी से नवजोत सिंह ने दिल्ली आकर प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात की थी। इसके बाद से ही इन्हें पार्टी का पंजाब अध्यक्ष बनाए जाने के कयास लगाए जा रहे थे। सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने का विरोध कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया था और इस मामले में खुलकर नाराजगी भी जताई थी। लेकिन आखरी फैसला सोनिया गांधी को लेना था जिसके बाद उन्होए सिद्धू को बनाये जाने लिए गया। 

siddhu amrinder

इसके साथ ही कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह के बीच बढ़ते विवाद को खत्म करने की जिम्मेदारी कांग्रेस ने पंजाब प्रभारी हरीश रावत को दी थी। इसके लिए यह हेलीकॉप्टर से पटियाला पहुंचे थे। जहां इन्होंने करीब एक घंटे तक कैप्टन अमरिंदर सिंह से बातचीत की थी। इसके बाद उन्होंने पार्टी के फैसले को मानने की बात कही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...