राजस्थान के बेटो ने अपनी माँ के लिए वह कर दिखाया जो सभी मरने के बाद करते है। लोग बोल रहे…

Mother Statue

आज हम आपको राजस्थान के दो बेटो के बारे में बताने जा रहे है, जिन्होंने अपनी माँ के लिए वह कार्य किया है जो कई लोग मरने के बाद करते है। यह दोनों बेटे राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर क्षेत्र के खुड़ी गांव के रहें वाले है। इन्होने अपनी माँ की इच्छा पूरी करने के लिए इस कार्य को किया है। अक्सर इस कार्य को मां के मरने के बाद किया जाता है। लेकिन इन्होने मां की खुशी के लिए उनकी यह इच्छा जीते जी ही पूरी कर दी।

Rajasthan Mother Statue

सतपाल और महेंद्र ने अपनी माँ की इच्छा को पूरी करने के लिए उन्होंने उनकी मूर्ति की स्थापना की है। उनके पिता का देहांत 2 साल पहले हो चूका है जब उन्होंने उनकी मूर्ति को भी अपने गांव में अनावरण करवाया था। उनके लिए समाधि स्थल पर उनकी प्रतिमा स्थापित की गयी थी। लेकिन इन दो बेटों ने मां के जिंदा होते हुए उनकी मूर्ति बनवा के उसका भी अनावरण करवा दिया है।

सभी कुछ उन्होंने अपनी मां के कहने पर किया।

Mother Statue

सतपाल और महेंद्र सीकर के फतेहपुर क्षेत्र के खुड़ी गांव में रहते हैं। उन्होंने पिता की तरह की माँ की मूर्ति की स्थापना करने का भी सोचा था। लेकिन माँ ने उनसे कहा की मेरे मरने के बाद मूर्ति देखने कौन आएगा? में तो रहूगी नहीं यदि लगवाना ही है तो मेरे जीते जी लगवा दो। तो मैं भी उसे जी भर के देख लूंगी। मां की यह बात सुनकर मां की इच्छा को पूरा करने के लिए उन्होए पिता के पास ही उनकी मूर्ति भी लगवा दी।

Mother Statue

इसलिए दोनों बेटो ने माँ की इच्छा को ध्यान में रखते हुए मूर्ति पहले ही बनवा के स्थापित कर दी। इसके बाद उन्होंने अपनी मां की मूर्ति भी पिता की मूर्ति के पास स्थापित कर दी। हालांकि उनकी मां अभी जिंदा है, मूर्ति का अनावरण करने के लिए फतेहपुर के विधायक हाकम अली खान आए थे। उनके द्वारा इस मूर्ति का अनावरण किया गया। इस अनावरण में उनके गांव के सभी लोग उपस्थित थे, उनके इस कार्य को सभी लोगो ने काफी सराहा है जिन्होने अपने माँ की इच्छा के लिए ऐसा किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...