गौशाला और गरीबों को दान की 11 करोड़ की संपत्ति, 11 साल के बेटे के साथ दीक्षा लेगा सुराना दंपति

MP Viral News

बालाघाट के सर्राफा कारोबारी राकेश सुराना ने अपनी 11 करोड़ों की संपत्ति को छोड़कर पत्नी और बेटे के साथ 22 मई को विधि विधान के साथ जयपुर में दीक्षा लेने का प्रण लिया है। वह अपनी पूरी संपत्ति गौशाला और अन्य धार्मिक संस्थाओं में दान कर चुके हैं। इस परिवार ने गुरु महेंद्र सागर जी से प्रेरित होने के बाद सांसारिक जीवन का त्याग करने का निर्णय लिया है और अध्यात्म के पथ पर चलने का फैसला किया।

राकेश सुराना ने बताया कि उनकी पत्नी लीला सुनाना यह बचपन से ही संयम पद पर जाने की इच्छा थी वही इलीना सुराणा की प्रारंभिक शिक्षा अमेरिका से हुई थी उसके बाद बेंगलुरु यूनिवर्सिमएम ने पढ़ाई की। इन दोनों ने अपने बेटे अमन सुराना को भी मात्र 4 साल की उम्र में ही संयम के पथ पर जाने का फैसला किया कम उम्र के कारण अमेरिको तो 7 साल का ही इंतजार करना पड़ा

बताया कि उनकी माताजी ने भी 2017 में दीक्षा ली थी इनके अलावा राकेश सुराना की बहन साल 2008 में दीक्षा ले चुकी थी। राकेश सुराना बालाघाट मैं सोने चांदी के व्यापार से जुड़े हुए हैं राकेश सुराना ने कभी छोटी सी दुकान से ज्वेलरी का कारोबार शुरू किया था उसके बाद सराफा क्षेत्र में उनका नाम और शोहरत दोनों बढ़ता गया। इस आधुनिक समय में उनके घर पर सभी सुविधाएं थी। उन्होंने अपने करोड़ों की संपत्ति अर्जित की और सारी पूंजी दान कर अध्यात्मिक की ओर जाने का फैसला किया। राकेश पुराना नहीं है बताया कि उन्होंने अपनी सारी संपत्ति समाज गरीब और गौशाला में दान कर दिया।

Back To Top
error: Please do hard work...