राममंदिर ट्रस्ट घोटाला? आम आदमी पार्टी द्वारा फैलाया झूठ, कुछ ही घंटों में इनका झूठ सामने आ गया।

Ram Mandir Trust Scam

राममंदिर को लेकर हमेशा कोई ना कोई सवाल खड़ा हो जाता है। इस बार वामपंथियों द्वारा दवा किया जा रहा है की राम मंदिर में घोटाला हुआ है। इस बात को सुनकर आपको भी यकीन नहीं होगा लेकिन यह बात सही है। इस बार आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट जमीन की खरीद फरोख्त में भी हेरा फेरी की गयी है। इस बात को उन्होंने मीडिया के समाने रखा है। आइये जानते है पुरे मामले को।

AAP सांसद संजय सिंह का दवा।

AAP

AAP के सांसद संजय सिंह द्वारा यह दवा किया जा रहा है की, अयोध्या में जमीन की गाटा संख्या 243, 244, 246 है, जिसकी कीमत 5 करोड़ 80 लाख रुपए है, उसे 2 करोड़ रुपये में पहले खरीदा गया उसके बाद ,सुल्तान अंसारी ने इस जमीन की खरीदारी में करोड़ो का हेर-फेर किया। उन्होंने इसके लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय पर भी गंभीर आरोप लगाए है। उनका यह भी कहना है की इस पूरी हेरा फेरी में अयोध्या के मेयर भी शामिल है। वह दवा कर रहे है की 18 मार्च 2021 को ये जमीन 2 करोड़ रूपए में खरीदी गई, इसके जमीन को राम जन्मभूमि ट्रस्ट ने साढ़े 18 करोड़ रुपए में खरीदा।

CBI की मांग

CBI

उन्होंने इस तरह के आरोप लगाने के बाद इस पुरे मामले की जाँच CBI और ED से कराने की माँग की है। उनहोने खा है की अग्रीमेंट और खरीदने के समय में हेरफेर किया गया है। जमीन का एग्रीमेंट 5:11 में खरीदा गया और जमीन का स्टाम्प 5:22 में यह दोनों समय अलग अलग है। ट्रस्ट में प्रस्ताव पारित कराए बिना 5 मिनट में जमीन को दोबारा बेचने का दवा किया है। वह चाहते है है की जिस जमींन को 18 मार्च को 2 करोड़ रुपए में खरीदा गया, उसी जमीन का 10 मिनट बाद साढ़े 18 करोड़ रुपए में एग्रीमेंट क्यों हुआ? इसकी जाँच करवाने के लिए उन्होंने CBI और ED की मांग की है, ताकि लोगो के सामने राम मंदिर का घोटाला आ सके।

इस पुरे मामले में चंपत राय ने दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया है। उनका कहना है की, “ट्रस्ट ने निर्माणाधीन राम मंदिर के आसपास के छोटे-मोटे मंदिरों और गृहस्थों की जमीन भी खरीदी है। ट्रस्ट ने अब तक जितनी भी भूमि खरीदी है, उसे खुले बाजार की कीमत से कम पर ही लिया गया है। इस जमींन का उपयोग मंदिर की दिवार बनाने और पूर्व-पश्चिम दिशा में आवागमन की सुविधा को बढ़ाने में किया जाएगा, जिसमे खेले मैदान होंगे इसलिए ज्यादा जमीं को लिया गया है। मार्च 18, 2021 को इसका बैनामा हुआ और ट्रस्ट के साथ इसका अनुबंध किया गया। और उन्होंने बताया है की, जिनसे भी यह जमीं ली गयी है, उनके पुनर्वास की भी व्यवस्था की जा रही है। उन्हें जल्द ही नई जगह प्रदान की जायेगी। उनपर लगाए गए आरोप झूठे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...