अब तो साइंस ने भी माना बड़े – बड़े रोग ठीक कर सकता हैं रुद्राक्ष, जाने पूरी खबर।

Power of Rudraksha Mala

पुरातन काल से ही लोग रुद्राक्ष को शुभ मानते हैं और लोगों ने इसके धारण करने के बाद होने वाले परिवर्तन को भी अपनी जिंदगी में महसूस किया है। लेकिन वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी इससे होने वाले लाभों को भी जानना जरूरी है। अगर आप भी पहनते है रुद्राक्ष की माला तो इसके फायदे आपकी सेहत से भी जुड़े हुए हैं।

स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से परेशान होकर भी लोग रुद्राक्ष धारण करना पसंद करते हैं। भागदौड़ भरी जिन्दगी में लोग अत्यधिक तनाव और दिल, दिमाग की समस्याओं से ज्यादा पीड़ित होते हैं। इन समस्याओं की एक ही वजह है हमारे मन, आत्मा और शरीर के बीच असंतुलन। हमारे मन को संतुलित करने का सबसे अच्छा उपाय है रुद्राक्ष धारण करना। जो की हमारे मन और शरीर दोनों पर ही अच्छा प्रभाव डालता है।

Power of Rudraksha Mala

इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी फ्लोरिडा के वैज्ञानिकों के अनुसार रुद्राक्ष मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पॉवर होती है, जिसके चलते यह हमारे शरीर पर जादु सा काम करता है। विज्ञान भी इस बात को स्वीकार कर चुका है कि रूद्राक्ष हमारे शरीर और मस्तिष्क पर प्रभाव डालता है। आइये जाने इन प्रभावों के बारे में।

रुद्राक्ष के मैग्नेटिक पॉवर से लाभ

Rudraksha

रुद्राक्ष में मैग्नेटिक पॉवर होता है इसको धारण करने से अवरूद्ध धमनियों और नसों में रूकावट दूर होती है और खून का बहाव अच्छे से होता है डायनामिक पोलेरिटी गुणों की वजह से एक चुंबक की तरह काम करते हैं। चुंबकीय प्रभाव के कारण रुद्राक्ष की माला में शरीर में होने वाले किसी भी तरह के दर्द और बीमारी को दूर करने की क्षमता होती है।

दिल और इंद्रियों पर प्रभाव डालकर दिमाग करे शांत

Rudraksha

हमारे शरीर का हर अंग दिल से मस्तिष्क तक और फिर शरीर के बाकी हिस्सों में ब्लड सकुर्लेशन से जुड़ा रहता है। तनाव को शरीर से दूर करने के लिए रूद्राक्ष पहनना एक अच्छा उपाय है। ऐसे में रुद्राक्ष शरीर को स्थिर रखता है और दिल और इंद्रियों पर प्रभाव डालकर इन समस्याओं को हल करता है। दिल के दौरे और हाई ब्लड प्रेशर के लिए यह सबसे अच्छा उपचार है।

दिमाग पर करता है नियंत्रण

Rudraksha Mala

आप अपने आसपास ऐसे कई लोगों से मिलते होंगे, जिनका व्यवहार चिड़चिड़ा होता है। इसका कारण होता है मस्तिष्क का अनियंत्रित होना। रुद्राक्ष की माला व्यक्तित्व को आकार देने का काम करती है और इसे पहनने से सकारात्मकता शरीर में उत्पन्न होती है। बता दें कि 1 मुखी माला व्यक्ति को धैर्यवान, 4 और 6 मुखी माला बुद्धिमान और 9 मुखी रुद्राक्ष की माला व्यक्ति का कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ाता है।

एनर्जी में ठहराव

Rudraksha Mala

रुद्राक्ष की माला हमारे अंदर पाज़िटिव एनर्जी उत्पन्न करती है। वैज्ञानिक अध्ययन साबित करते हैं कि रुद्राक्ष की माला में डायइलेक्ट्रिक गुण होते हैं, जो खराब ऊर्जा को स्टोर करने के लिए जाने जाते हैं। जब भी हम शारीरिक या मानसिक रूप से तनावग्रस्त होते हैं, तो उस वक्त हमारा शरीर ज्यादा एनर्जी उत्पन्न करता है, जिसे अगर स्टोर या बर्न न किया जाए, तो ब्लड प्रेशर, चिंता, अवसाद जैसी कई समस्याएं बढ़ती हैं। ऐसे में रुद्राक्ष की माला इस अनचाही ऊर्जा को स्थिर कर तंत्रिका तंत्र में सुधार और हार्मोन को संतुलिन करने में मदद करती है।

इस व्यस्त जीवनशैली में तनाव, सिरदर्द, उलझन, घबराहट को दूर करने के लिए भी आप रुद्राक्ष की माला पहन सकते हैं लेकिन ध्यान रखें इससे पहनने से पहले किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...