लड़की ने बताया मेरी मां अपनी मर्जी से J!sm का सौदा करती है, पढ़ी लिखी औरतें तो ना चाहते हुए भी होती है हमबिस्तर।

Weird News

हम सभी यह नही जानते है की एक S-E-X वर्कर्स की जिंदगी असल में कैसी होती है? इसके पीछे की कहानी को हम कभी जान नही पाते है। समाज इन्हें सिर्फ गलत तरीके से देखता है। इसके साथ ही हम लोग यह जानना भी चाहते है की, आखिर S-E-X वर्कर के बच्चे समाज में किस तरह से अपने आप को पेश करते हैं। इसके बारे में एक रिपोर्टर ने लिखा है जो हम आपको बताने जा रहे है।

क्या इनके बच्चो को भी स्कूल-कॉलेज या दोस्तों के बीच उतने ही सम्मान की नजरों से देखा जाता है? दैनिक भास्कर के ऑनलाइन वेबसाइट पर आज S-E-X वर्कर की बेटी की कहानी छपी है। जिसकी लेखिका निशा सिन्हा हैं उनके बारे में बताया है।

Viral News

उन्होंने सेक्स वर्कर की बेटी पर यह रिपोर्ट लिखी है। उसे S-E-X वर्कर की लड़की ने बताया की उसे जब उसकी असली पहचान मिली तो उसे शर्म आने लगी। वह सोचती थी की उसके दोस्तों के सामने उसकी माँ के बारे में पता चला तो क्या होगा? उसने बताया की पिता की मौत के बाद मां नए पापा को घर ले आयी, जिसके बाद उसका बचपन छीन गया।

नाना ने ही बेचा उसकी मां को

Jayshree Story

जयश्री ने बतया की मां महज 13 साल की उम्र में उसके नाना ने उनको पहली बार बेचा था। फिर वह हर जगह बिकती रही। शादी के बाद भी यह सब जारी रहा। उसकी मां का बिकना जारी रहा। अंतर बस यही था कि शादी के पहले उसकी कमाई से भाई-बहन पल रहे थे, वहीं शादी के बाद उसके दो बेटे और एक बेटी यानी मैं पलती थी।

मेरी मां का उसके शरीर पर पूरा हक है।

Worker Jayshree Story in Hindi

जयश्री ने बताया की मां से जब जाना और उन्हें समझा तो पाया की उसकी मां उन तमाम औरतों के जैसी मजबूर बिल्कुल नहीं है, जो मैरिटल रे*प से गुजरती हैं। मेरी मां का उसके शरीर पर पूरा हक है और वह अपनी मर्जी से शरीर का सौ-दा करती है। जबकि तमाम पढ़ी-लिखी औरतों को ना चाहते हुए भी हमबिस्तर होना पड़ता है। क्योकि वह मना नही कर सकती है।

आज जयश्री नामी यूनिवर्सिटि में पढ़ती हैं। जहां अमीर घरों के बच्चे पढ़ते हैं और अपनी लाइफ शान से जीती है। उनकी सोच पॉजिटिव रही है और उनकी माँ उसकी पूरी मदद करती है। उनका कहना है की आज मुझे अपनी मां पर गर्व है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...