शादी में हो परेशानी तो एक बार जरूर ले इस वास्तु टिप्स का सहारा।

Shadi me pareshani

आपने देखा होगा की शादी की उम्र होने के बाद भी अगर शादी नहीं होती है या फिर कुछ बाधाएं आती है या दिक्कत परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं तो यह वास्तु का उपाय आराम से आपकी शादी में मदद करेगा। वास्तु के हिसाब से देखे तो जिन भी लड़के – लड़कियों की शादी का समय हो गया हो लेकिन फिर भी परेशानी आ रही है तो उन्हें दक्षिण या फिर दक्षिण – पश्चिम दिशा में नहीं सोना चाहिए। ऐसा माना जाता है की इन दिशाओं में सोने से विवाह योग्य सही रिश्ते नहीं आते हैं। और यही कारण है की सोते समय पैरों को उत्तर दिशा की ओर ना रखे। इसके साथ ही हम आपके लिए आज कुछ और ही वास्तु के उपाय ले कर आए हैं तो आईये जानते है कौन – कौन से है वो उपाय।

कुछ खास उपाय – एक बार जरूर करें।

  1. इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि जो भी लोग विवाह की बात करने आपके घर आए हैं, उनका मुंह घर के अंदर की ओर होना चाहिए। यह भी कहा जाता है कि अगर मुंह बाहर की ओर होगा तो बात पक्की ना हो पाएगी और आगे भी न बढ़ पायेगी। जिन लड़के लड़कियों की शादी की उम्र हो या बात चल रही हो, तो उन्हें काले रंग के वस्त्र नहीं पहनना चाहिए। क्योकि काला रंग शनि, राहु और केतु के होते हैं और ये तीनों ग्रह शादी में दिक्कतें ला सकते हैं। इसीलिए ज्यादातर लाल, पीले या हरे रंग के कपड़े ही पहनें। जिससे की शादी होने के आसार बढ़ सकते हैं।
  2. जिन लोगों की शादी में दिक्कतें परेशानियाँ आ रही हैं, उनको ऐसे कमरे में सोना चाहिए जहां पर खिड़की और दरवाजें दोनों हों। और जिन कमरों में हवा और रोशनी का संचार ना हो ऐसे कमरों में कभी नहीं सोना चाहिए। विवाह योग्य जातकों के कमरे का रंग हमेशा हल्का ही होना चाहिए। जहां बीमा लटका हो वहां भी कभी सोना नहीं चाहिए। इसके साथ ही विवाह जातकों को सोमवार का व्रत रखना चाहिए।
  3. दरवाजे के करीब कभी भी अपना बेड़ ना रखे। अगर घर के दक्षिण पश्चिम हिस्से में लाल फूलों की चित्रकारी करवाई जाती हैं, तो शादी के योग जल्द बनते हैं। वो लोग जिनकी शादी होनी है उनको कमरे में कभी भी खाली खड़ा बर्तन ढ़क कर नहीं रखना चाहिए। इससे शादी में रुकावट आती है। ऐसे लोगों को अपने बेड़ के नीचे लोहे का सामान और कूड़ा कबाड़ भी नहीं रखना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top