बहन ने भाई के 5वें बच्चे को जन्म दे कर भाभी को किया खुश, प्रेग्नेंट ननद ने साथ हुआ था फोटोशूट

America News

अगर पवित्र रिश्ते की बात की जाए तो भाई – बहन के रिश्ते को देखा जाता हैं। और ये भी कहा जाता है की भाई-बहन में इतना प्यार होता है की दोनों एक दूसरे के लिए कुछ भी कर जाते है। और आज हम आपको एक ऐसी ही बहन के बारे में बताने वाले हैं जिसने अपने भाई की ख़ुशी के लिए अपने भाई के 5वें बच्चे को अपनी कोक से जन्म दिया।

आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन यह सत्य घटना हैं जो की अमेरिका के वॉशिंगटन की हैं। जहाँ पर एक बहन ने अपने भाई के 5वें बच्चे को जन्म दिया। अब हैरान करने वाली बात यह है की बहन पहले से शादी शुदा है जिसके अपने तीन बच्चे है और भाई भी शादी शुदा है जिसके चार बच्चे हैं। लेकिन भाई चाहता था की उनका पूरा परिवार तभी होगा तब उसका पांचवा बच्चा होगा। लेकिन उसकी उसकी पत्नी माँ नहीं बन पा रही थी। और दोनों पति पत्नी ने बहुत प्रयास किये लेकिन आखरी में वह हार गए। जिसके बाद एक बहन ने भाई का दर्द देखा और आगे आई। और उसने भाई के पांचवे बच्चे को जन्म देने की प्लानिंग की।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की यह बहन अपने भाई के लिए सरोगेट मदर बनी हैं। इसका मतलब ये की अंडाणु और शुक्राणु उसके भाई और भाभी के ही थे लेकिन बहन ने उस बच्चे को अपनी कोक में पाला। अगर देखा जाए तो ज्यादातर केस में सरोगेसी जिसे किराए की कोख भी कहा जाता हैं, इसमें किसी भी अंजान महिला को चुना जाता है लेकिन इस केस में अजीब हुआ की एक बहन ही अपने भाई की ख़ुशी के लिए सरोगेट मदर बन गई।

बता दे की बहन का नाम हिल्दे पेरिंगर है और उम्र 27 वर्ष हैं। वहीं उसके भाई का नाम इवान शेली है जो की 35 वर्ष के है जबकि उनकी वाइफ केल्सेय 33 वर्ष की हैं। आपको बता दे की इवान की पत्नी कुछ मेडिकल परेशानी के चलते पांचवी बार माँ नहीं बन पा रही थी। और यही वजह थी की ननद भाभी की मदद करने के लिए आगे आई। आपको बता दे की बहन की प्रेगनेंसी का पूरा खर्च भाई ने ही उठाया हैं।

इसकी जानकारी देते हुए कपल ने बताया की वह बीते साल से ही पांचवे बच्चे के लिए पूरी कोशिश कर रहे थे लेकिन जब नेचुरल तरीके से सफलता नहीं मिल पाई तो उन्होंने मेडिकल साइंस का सहारा लिया। शख्स की बहन ने जैसे ही बच्चे को जन्म दिया उनके घर में ख़ुशी का माहौल बन गया। और हर किसी के चेहरे पर सिर्फ मुस्कान ही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top