ऐसा क्या हुआ था जो देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने सोनिया गांधी से कहा घबराओ मत मैं भी उस समय जवान थी और…

Sonia Gandhi Indira Gandhi

आज के इस आर्टिकल में हम आपसे भारत के गाँधी परिवार के बारे में बात करने जा रहे है। गाँधी परिवार को कौन नहीं जानता होगा, भारत में गाँधी परिवार को अक्सर लोग राजनीती के लिए पहचानते है। यह परिवार राजनीती की कांग्रेस पार्टी से है और राजनीती की शुरुवात इनके घर से पंडित जवाहरलाल नेहरू ने की थी उसके बाद राजनीती में इंदिरा गाँधी, राजीव गाँधी, सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी आए। अब तक इस परिवार ने भारत को तीन प्रधानमंत्री दिए है।

Sonia Gandhi Indira Gandhi

सबसे पहले प्रधानमंत्री इस परिवार से पंडित जवाहरलाल नेहरू थे, उसके बाद दूसरी प्रधानमंत्री इनकी बेटी इंदिरा गाँधी और तीसरे राजीव गाँधी थे। आपकी जानकारी के लिए बता दे की नेहरू की बेटी इंदिरा ने फिरोज खान से शादी की थी और इनके बेटे राजीव गाँधी थे और राजीव गाँधी ने सोनिया गाँधी से लव मैरिज की थी। आप भी जानते है की राजीव गाँधी अब हमारे बिच नहीं है।

Sonia Gandhi Indira Gandhi

आपकी जानकारी के लिए बता दे की भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गाँधी जब अपनी पढ़ाई कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से कर रहे थे तब ही उनकी मुलाकात सोनिया गाँधी से हुई थी और उसी दौरान इन दोनों की दोस्ती हो गयी थी। यह दोस्ती कब प्यार में बदल गयी पता ही नहीं चला और उसके बाद 25 फरवरी 1968 में इन दोनों ने शादी कर ली। एक बार की बात है सोनिया गाँधी ने एक इंटरव्यू में उनके और उनकी सास इंदिरा गाँधी के रिश्ते के बारे में बताया था।

Sonia Gandhi Indira Gandhi

इंदिरा गाँधी को इन दोनों के बारे में साल 1965 में पता चला था। उसके बाद इंदिरा गाँधी ने सोनिया को मिलने बुलाया था। सोनिया ने उस इंटरव्यू में बताया की उस समय में बहुत नर्वस थी, जब की उस समय तो वह प्रधानमंत्री भी नहीं थे। उन्होंने आगे बताया की उस समय तो मुझे इंग्लिश भी अच्छे से नहीं आती थी और वो मुझसे फ्रेंच भाषा में बात करने लगी। तब इंदिरा गाँधी ने उनसे कहा की घबराओं मत में भी जवान थी और मुझे भी प्यार हुआ था और में इस बात को बहुत अच्छे से समझती हूँ।

सोनिया ने आगे बताते हुए कहा की इंदिरा गाँधी जैसी दिखती है वह वैसी है नहीं, वह मेरी हर चीजों का बहुत ध्यान रखती है। वह बिलकुल मेरी माँ की तरह मेरी हर चीजों का ख्याल रखती है। उनका कहना है की उनको कभी महसूस नहीं हुआ की वह बहार देश से आयी है। इंदिरा गाँधी का असली नाम प्रियदर्शनी था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...