“बच्चे पैदा करने लायक होने पर कर देनी चाहिए लड़कियों की शादी, उम्र बढ़ने पर पो’र्न देखकर…” एक और सपा सांसद ने दी अजीब दलीलें

Political Comment on marriage age

आप सभी जानते है की लड़कियों की शादी की न्यूनतम उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल कर दी गयी है और इस प्रस्ताव पर समाजवादी पार्टी (सपा) के कई नेताओ ने आपत्ति जाहिर की है। आपको बता दे की अबु आजमी, शफीकुर्रहमान बर्क के बाद अब सपा सांसद एसटी हसन ने भी केंद्र के प्रस्ताव का विरोध करते हुए अजीब दलीले दी है।

हसन ने कहा की जब लड़कियां बच्चे पैदा करने के लायक हो जाये तो उनकी शादी कर देनी चाहिए, इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा की उम्र बढ़ने पर बच्चे पोर्न फिल्मे देखने लगते है और उनमे अनुशासनहीनता बढ़ जाती है। आगे हसन ने कहा की “महिलाओं की प्रजनन उम्र 16-17 वर्ष से 30 वर्ष तक होती है और अगर उनकी शादी में देर होती है तो दो नुकसान होते है एक तो बाँझपन की सम्भावना और दूसरी जब उम्र ज्यादा हो जाती है तो बच्चे व्यवस्थित नहीं होते”।

Marriage age news

सपा सांसद ने कहा, ”मैं मानता हूं कि जब एक लड़की परिपक्व हो जाती है तो वह प्रजनन की उम्र हासिल कर लेती है और उसकी शादी हो जानी चाहिए। यदि एक लड़की 16 साल में परिपक्व हो जाती है तो उसकी शादी 16 में भी हो सकती है। यदि वह 18 की उम्र में वोट कर सकती है तो वह शादी क्यों नहीं कर सकती है? बच्चे जब बड़े होते हैं तो अनुशानहीनता बढ़ जाती है, जब वे पो’र्न वीडियो और फोटो देखने लगते हैं।”

SPA Opinion on Marriage age

उन्होंने आगे कहा की हमने लिव इन रिलेशन को मंजूरी दे दी है यही दिखाता है अनुशाशनहीनता बढ़ गयी है और इस उम्र में हार्मोन बदलाव अपराध की और ले जा सकते है। उनका कहना है की शादी की उम्र बढ़ाने से लड़कियां गलत रस्ते पर जा सकती है और ऐसे लोग ये कानून निकाल रहे है जिनके अपने बच्चे नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top
error: Please do hard work...