Sandeep Budania : 34 बार फेल होने के बाद अफसर बना 28 वर्षीय संदीप बुडानिया, बेहद रोचक है लव स्टोरी

sandeep budania

आज हम आपको सफलता प्राप्त करने के जूनून की एक सच्ची कहानी बताने जा रहे है। आज के युवा एक दो बार किसी परीक्षा में फेल होने के बाद निराश हो जाते है, लेकिन राजस्थान के संदीप बुडानिया 34 बार फेल होने के बाद ऑफिसर के पद पर आज कार्यरत है। आइये जानते है इनके बारे में।

Sandeep Budania चिड़ावा झुंझुनूं

Sandeep Budania Photo

संदीप बुडानिया मूलरूप से राजस्थान के झुंझुनूं की चिड़ावा तहसील की अलीपुर ग्राम पंचायत में मालीगांव के पास नारनोद का रहने वाला है। इनका बचपन से सपना सरकारी नौकरी प्राप्त करना था। इसलिए उन्होंने कई गवर्मेंट एग्जाम में प्रयास किया और वह हर बार असफल रहते थे, लेकिन इन्होने इसके लिए कभी हार नहीं मानी और 34 बार फेल होने के बाद 35वें प्रयास में सफल होकर उन्होंने आयकर विभाग में निरीक्षक पद को प्राप्त किया है। वह अभी अपनी सेवाएं दिल्ली में दे रहे है।

दिल्ली आयकर इंस्पेक्टर संदीप बुडानिया ने इंटरव्यू में बातचीत के दौरान बताया की उन्होंने इस पद को प्राप्त करने से पहले 34 प्रतियोगी परीक्षाओं को दिया है। उन्होंने अपनी लव स्टोरी को भी सभी के सामने रखा है। साथ ही बताया कि कभी ताने मारने वाले लोग ही अब इन पर कैसे गर्व करते हैं?

संदीप बुडानिया की लव स्टोरी

Sandeep Budania Lovestory

संदीप बुडानिया की लव स्टोरी भी काफी रोमांटिक है। इन्हें 11वीं कक्षा में ही झुंझुनूं जिले के ही गांव कासिमपुरा की नीतू फोगाट से प्यार हो गया था। तभी से इन दोनों की लव स्टोरी की शुरुआत हुई थी। यह झुंझुनूं एकेडमी में पढ़ा करते थे, कक्षाएं अगल-अगल कैम्पस में लगती थीं, मगर ये बस में एक साथ आते थे।

तो क्या आशिकी के चक्कर में नहीं हुए पास?

Sandeep Budania

इन दोनों के प्यार के बारे में सभी लोग जानते थे कई लोगो द्वारा यह सवाल किया गया की क्या प्यार के कारण यह इतनी बार असफल हुए। संदीप के अनुसार लोग तो यहां तक कहते थे कि वह जयपुर में कोचिंग करने नहीं जाता बल्कि नीतू के साथ घूमने फिरने के लिए जाता है। घूमता है। इसलिए प्रतियोगी परीक्षाओं में फेल हो जाता है।

आर्मी स्कूल से की पढ़ाई

Love story

संदीप के पिता रमेश बुडानिया भारतीय सेना में होने की वजह से इनका जन्म 18 अक्टूबर 1992 को पठानकोट में हुआ। यहीं पर शुरुआती शिक्षा आर्मी स्कूल से हुई। पिता के ट्रांसफर के चलते दिल्ली केंट, ग्वालियर केंट व हिसार केंट की आर्मी स्कूल में हुई। 11वीं के बाद की पढ़ाई झुंझुनूं एकेडमी से और इंजीनियरिंग श्रीधर विश्वविद्यालय पिलानी से की। उनका सपना बचपन में डिफेंस जाने का भी था लेकिन यह उसमे सफल नहीं हो पाए।

इन परीक्षाओं में भी हुए असफल

Sandeep Love story

डिफेंस सेवाओं में जाने की उम्र निकलने के बाद इन्होने 2013 से लेकर 2016 तक एसआई, सीपीओ, एसएससी, सीजीएल, एलआईसी एएओ, असिस्टेंट कमांडेंट, एबीआई पीओ, आरआरबी पीओ, एसबीआई क्लर्क और आयकर विभाग में निरीक्षक पद के लिए परीक्षाएं दी। कई परीक्षाओ में साक्षात्कार तक भी पहुंचा, लेकिन सफल नहीं हुए।

लेकिन इन सभी के बावजूद आज वह दिल्ली में आयकर विभाग में कार्यरत है। 5 अगस्त 2017 को आयकर विभाग निरीक्षक भर्ती परीक्षा का रिजल्ट आया था और वह पास हो चुके थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...