एक थाली में 3 रोटियां एक साथ क्यों नहीं परोसी जाती है…? जानिये इसके पीछे की खास बड़ी वजह I

Thaali me 3 roti ek saath kyo nhi rakhi jaati

हम सभी ने बचपन से ही सुना है कि एक साथ 3 रोटियां थाली में नहीं लेना चाहिए I इसके पीछे किसी तरह का में ठोस कारण नहीं पता है, लेकिन फिर भी हमारे घर वाले हमें एक साथ तीन रोटी थाली में कभी नहीं लेने देते हैं I यह काफी समय से चला आ रहा है लेकिन इसके पीछे ज्योतिषशास्त्र के अनुसार भी कुछ कारण है, जो कि सही और गलत को दिखाते हैं I

आज हम आपको बता दें कि एक साथ तीन रूठे थाली में क्यों नहीं लेना चाहिये I ऐसा भी माना जाता है कि तीन तिगड़ा काम बिगड़ा होता है I इसलिए 32 टेक साथ नहीं ली जाती है लेकिन अंक ज्योतिष के अनुसार 3 अंक का नंबर है किसका नंबर होता है,  जिसे शुभ कार्यों में उपयोग में नहीं किया जाता है I इसलिए खाते समय भी तीन रोटिय एक थाली में नहीं ली जाती है I

इसके साथ यह भी माना जाता है, कि जब मृतक की थाली लगाई जाती है तो उसमें तीन रोटियां एक साथ रखी जाती है I इसलिए जी भी देखती की थाली में 3 रुपया एक साथ नहीं रखी जाती हो अशुभ मानी जाती है I

एक कारण को स्वास्थ्य के अनुसार भी देखा जाता है, ऐसा माना जाता है कि थाली में हमेशा दो रोटी एक कटोरी चावल और एक कटोरी सब्जी वजन के लिए पर्याप्त होती है I इसलिए तीन रोटी या नहीं ली जाती है I इस तरह का पोस्टिक आहार सर्वश्रेष्ठ माना जाता है I

इस तरह की कई मान्यताएं भारतीय लोग मानते हैं, जो कि कुछ हद तक सही भी होती है I यह कई ज्योतिष शास्त्र से जुड़ी होती है जो स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर होती है I इसलिए इन चीजों को मानना भी चाहिए I

Back To Top
error: Please do hard work...