तीन टांगो वाला अद्भुत इंसान, जिनसे 77 साल तक दुनिया को किये हैरान।

Three Legs Man

दुनिया में आपने कई तरह के अजूबे देखे है, कई बार इन अजूबो में इंसान भी शामिल रहते है। जो काफी आश्चर्यजनक होते हैं और उन अजूबों को देखने के बाद हम अक्सर सोचते हैं कि क्या ऐसा भी हो सकता है। आज ऐसे ही एक अजीब इंसान के बारे में आपको बताने जा रहे है जिसे देखकर आप भी हैरान रह जायेगे।

Three Legged Man

हम आपको एक इटली  के एक रहने वाले इंसान के बारे में बता रहे है, जिसकी दो नहीं बल्कि तीन टांगें थी। जी हां, यह हैरान करने वाली बात तो है, लेकिन बिल्कुल सच है। कुदरत ने उसे असाधारण रूप में पैदा किया था जिसके बाद भी वह 77 साल तक जिंदा रहा। इस अनोखे इंसान का नाम था फ्रांसेस्को ‘फ्रैंक’ लेंटिनी, जिसका जन्म 18 मई 1889 को इटली के सिसिली द्वीप में हुआ था। उसके 12 भाई-बहन थे। लेकिन वह इस अजीब शरीर के साथ जन्मा था।

Three Legged Man

आपको जानकर हैरानी होगी कि लेंटिनी की तीन टांगें, चार पैर और दो गुप्तांग थे। उसका चौथा पैर उसकी तीसरी टांग के घुटने के पास से निकल रहा था। हालांकि वह पैर पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाया। कहा जाता है कि लेंटिनी एक प्रकार के विकार से पीड़ित थे, जिसमें उनके शरीर से आधा जुड़वां बच्चा जुड़ा हुआ था। वो ‘आधा बच्चा’ उनकी रीढ़ की हड्डी के साथ जुड़ा था।

Three Legged Man

इस शरीर के साथ फ्रैंक लेंटिनी को अपनी पूरी जिंदगी तीन टांगों, चार पैरों और दो गुप्तांगों के साथ ही गुजारनी पड़ी। उसने इन अंगो को हटवाने की कोशिश की थी, लेकिन डॉक्टरों ने साफ-साफ कह दिया था कि अगर वह अपने अतिरिक्त अंगों को हटवाते हैं तो उन्हें लकवा मार सकता है और उसकी जान भी जा सकती है। उनकी तीसरी टांग रीढ़ की हड्डी के बिल्कुल पास थी।

उनकी तीन टांगें होने के बावजूद उनके पास गजब की फुर्ती थी। वह अपनी तीसरी टांग से फुटबॉल को किक मारा सकते थे, साथ ही वह काफी हाजिर जवाबी थी। साल 1907 में फ्रैंक ने थेरेसा मुरे नाम की महिला से शादी की, जिससे उन्हें चार बच्चे हुए। लेकिन वह ज्यादा समय एक साथ नहीं रहे। 1935 में दोनों अलग हो गए, जिसके बाद फ्रैंक ने हेलेन शुपे नाम की महिला से शादी कर ली और मरने तक वह उसी महिला के साथ रहे। उनकी मरतु 21 सितंबर 1966 को अमेरिका में हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...