टूट सकता है, मीराबाई चानू का पेरिस ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने का सपना, IOC को मिली ये पावर।

Mira Bai Chanu

टोक्यो ओलंपिक में अपने नाम रजत पदक का चुकी विजेता मीराबाई चानू का पेरिस ओलंपिक में अपने पदक का रंग बदलने का सपना टूट सकता है। इसके पीछे के कारण को हम आपको बताने जा रहे है। 

आपको बता दे की इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी को किसी खेल को ओलंपिक कार्यक्रम से हटाने के लिए अधिक अधिकार दिए गए हैं। इस कारण इसकी पहली गाज वेटलिफ्टिंग पर पड़ सकती है, जिसे ऐसे हटाए जाने की आशंका है। वेटलिफ्टिंग और मुक्केबाजी की संचालन व्यवस्था लंबे समय से विवादों से घिरी रही है। इसके साथ ही इस खेल में डोपिंग की समस्या भी जुड़ी हुई है।

Silver medalist mira bai chanu

इस खेल पर पेरिस में 2024 खेलों से बाहर किए जाने का खतरा मंडरा रहा है। खेल के मुद्दों को देखते हुए ही आईओसी के सदस्यों ने मतदान करके खेलों की सर्वोच्च संस्था को किसी खेल को ओलंपिक कार्यक्रम से बाहर करने के अधिक अधिकार दिए है। इसके अनुसार अब यदि कोई खेल आईओसी के कार्यकारी बोर्ड के फैसलों का पालन नहीं करता है या ऐसे काम करता है जिससे ओलंपिक आंदोलन की छवि खराब होती है, तो उस गेम को ओलंपिक कार्यक्रम से हटा दिया जाएगा। 

Silver medalist mira bai chanu

आईओसी प्रमुख थामस बाक की अध्यक्षता में किसी निर्णय का पालन नहीं करने या उसे मानने से इन्कार करने पर किसी खेल या स्पर्धा को ओलंपिक से निलंबित करने का नया अधिकार मिल गया है। जिसके चलते वेटलिफ्टिंग खेल पर भी इसका असर देखा जा सकता है। इसका सबसे अधिक प्रभाव मुक्केबाजी और वेटलिफ्टिंग पर पड़ सकता है। मुक्केबाजी में पेरिस ओलंपिक के लिए खिलाड़ियों का कोटा पहले ही कम कर दिया गया है। लेकिन अब खबर यह भी है की वेटलिफ्टिंग को इन खेलों से पूरी तरह से ही हटाया जा सकता है।

Silver medalist mira bai chanu (2)

ऐसा हुआ तो इसका असर टोक्यो ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा में वेटलिफ्टिंग के 49 किग्रा में रजत पदक जीतकर भारत का खाता खोलने वाली मीराबाई चानू पर भी पड़ेगा। जिसने पेरिस ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने को अपना लक्ष्य बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...