असली कहानी: नागिन की मौत के बाद थाने पहुंच गया कोबरा सांप, दारोगा के सामने फन फैलाकर बैठा।

UP news

हम सभी ने बचपन में नाग – नागिन की कहानियां सुनी है, जिसमे बताया जाता है की किसी व्यक्ति ने नाग को मार दिया तो नागिन आकर उसका बदला जरूर लेती है। इस तरह की कहानिया फिल्मो में भी कई बार देखी है, लेकिन आज हम आपको इस तरह की एक वास्तविक घटना के बारे में बताने जा रहे है, जिसे जानकर आप भी हैरान हो जायेगे।

यह घटना यूपी के आजमगढ़ से सामने आई है, जिसे सुनकर आपको यकीन नहीं होगा लेकिन जो हुआ वह कोई कहानी नहीं बल्कि हकीकत है। आपको बता दे की इस घटना में नागिन की मौत के बाद नाग थाने पहुंचकर थानेदार से इंसाफ मांगता नजर आया।

जानिये क्या है पूरा मामला?

UP Snake death News

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला आजमगढ़ के मेंहनगर थाने का है जिसमे कुछ दिन पहले थाने में फरियादियों की भीड़ लगी थी, यहां सभी अपनी – अपनी शिकायत लेकर आए थे। थाने से कुछ दूरी पर एक नाग-नागिन का जोड़ा बैठा था।

UP Snake News

बताया गया है की, जब फरियादी थाने से वापस लौट रहा था उस समय उसकी कार नागिन पर चढ़ गई थी, जिसके बाद उसकी मौके पर मौत हो गई। उसके बाद उस कार सवार का उस कोबरा सांप ने काफी दूर तक कार का पीछा किया। वहीं, दूसरी तरफ सड़क पर सांप को मरा देखकर लोगों ने उसे थाने के पास ही दफना दिया। उस समय तक उस सांप का कोई पता नही था, लेकिन कुछ दिन बाद कोबरा उसी जगह पर वापस आ गया। जहा पर लोगो ने उस नागिन को दफनाया था।

थानेदार के पास फरियाद लेकर पहुंचा नाग

UP Police

जैसे ही इलाके में कोबरा दिखाई दिया, इलाके में हड़कंप मच गया। वहीं, कुछ देर बाद कोबरा उसी थाने पर पहुंच गया, जहां लोग अपनी शिकायत लेकर पहुंचे थे। थाने में जब इस कोबरा को देखा गया तो सभी पुलिसवाले डर गये।

कुछ पुलिसकर्मियों ने उसे मारने की कोशिश की, लेकिन दरोगा ने ऐसा करने से रोक दिया। इसके बाद कोबरा थानेदार के ऑफिस के सामने रास्ते पर फन फैलाकर बैठ गया। लोगो की भीड़ लग गयी और सभी लोगो का कहना है की, कोबरा थाने में उस मरी हुई नागिन के लिए शिकायत करने आया है।

लेकिन थाने में उस सांप को देखकर थानेदार ने किसी तरह कोबरा को डस्टबिन में भर कर दूर जंगल में छुड़वा दिया। लेकिन यह सांप आज लोगो के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
error: Please do hard work...