वडोदरा आश्रम मैं दुष्कर्म का मामला, शिष्या ने कबूला शरीर में दैवीय स्थापना के नाम पर संत के कमरे में भेजती थी बच्चियो को।

Vadodra Ashram

वडोदरा के बगलामुखी मंदिर के पाखंडी संत प्रशांत उपाध्याय ठगी और दुष्कर्म के मामले में फिलहाल जेल की हवा खा रहे हैं। अब उनकी शिष्या दिशा जॉन ने भी राज उगलने शुरू कर दिए हैं। हाल ही में दिशा जॉन को अरेस्ट करने के बाद पुलिस की पूछताछ में दिशा ने, इन बातों को कबूल कर ली और उसने बताया कि प्रशांत के कहने पर वह बच्चियों को उसके कमरे में भेजती थी, क्योंकि प्रशांत उससे कहता था, कि वह उन बच्चियों के शरीर में दैवीय शक्तियों की स्थापना करता है। फिलहाल दिशा से पुलिस और पूछताछ कर रही है। इसलिए प्रशांत के खिलाफ जुड़े कई रजों से पर्दा उठना अभी बाकी है।

क्या थी मामले में गहराई

वडोदरा के बगलामुखी मंदिर के संत प्रशांत उपाध्याय के खिलाफ एक युवती ने अपने साथ किए गए दुष्कर्म की शिकायत दर्ज करवाई है।युवती का कहना है, कि प्रशांत ने 2013 से 2017 तक लगातार कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया था। पीड़िता के अनुसार उस समय उसकी उम्र महज 13 साल थी और वह प्रशांत के आश्रम में गुरु सेवा करने आई थी। प्रशांत उसका इलाज करने के बहाने से उसके साथ लगातार 3 सालों तक कई बार दुष्कर्म किया। छोटी सी उम्र और प्रशांत के डर से युवती ने इस बात का ज़िक्र किसी से भी नहीं की थी।

छुट्टियों में गुरु की सेवा करने आई थी आश्रम

युवती ने यह भी कहा कि उसके पिता वारसिया बगलामुखी ब्रह्माशास्त्र विद्या मंदिर में अक्सर दर्शन के लिए जाते थे और सत्संग के दौरान ही प्रशांत उपाध्याय से प्रभावित हुए थे। जिसके बाद उनका पूरा परिवार इस मंदिर में जाने लगा था। वह भी गुरु की सेवा के लिए आश्रम जाने लगी थी। इसी दौरान उसके सर में तकलीफ होने पर प्रशांत ने उसे कुछ दवाइयां देनी शुरू कर दी। प्रशांत उसे दवाओं की जगह नशे की गोली देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के बाद प्रशांत ने उससे कहा, कि वह उसके शरीर में दैवीय शक्ति की स्थापना कर रहा है। जिसके बाद लगातार 3 सालों तक प्रशांत ने कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया।

प्रशांत के तीन शिष्य भी शामिल है इस मामले में

पीड़ित युवती का कहना है, कि प्रशांत के तीन और शिष्य का भी इसमें बराबर का हाथ है। पीड़िता के अनुसार प्रशांत की तीनों शिष्य दिशा जॉन, दीक्षा जसवानी और उन्नति जोशी उसे प्रशांत के पास भेजा करती थी। इस मामले में पुलिस ने दिशा जॉन को अरेस्ट किया है। दीक्षा के दुबई में होने की वजह से उसकी तलाश फिलहाल जारी है और तीसरी शिष्य उन्नति के बारे में भी अब तक कुछ पता नहीं चल सका है, कि वह कहां है। उन्नति के कुछ परिचितों का कहना है,कि वह काफी साल पहले ही गुजरात छोड़ चुकी है।

खुदकुशी की कोशिश भी कर चुका है प्रशांत

मई महीने में दुष्कर्म के मामले में आरोपी प्रशांत उपाध्याय ने नींद की गोली खाकर खुदकुशी करने की भी कोशिश की बता दें कि वह 15 दिनों की जमानत पर जेल से बाहर आया था और जमानत का समय अवधि खत्म होने वाला था इसी कारण प्रशांत ने अपने घर पर सुसाइड करने की कोशिश की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top