वाराणसी की 2 छात्राओं ने बनाया स्मार्ट चाकू – मनचलों से करेगा सुरक्षा

Varanasi 2 Student Developed Smart Chaku

Varanasi 2 Student Developed Smart Chaku – जिस प्रकार देश में बेटियाँ मनचलों से सुरक्षित नहीं हैं। और रोज देश के किसी न किसी कौने से बलात्कार जैसी संगहीन घटनाएं आ रही हैं। जिसको देखते हुए वाराणसी के अशोका इंस्टीट्यूट ऑफ कंप्यूटर साइंस कॉलेज की आत्मनिर्भर बेटियों ने एक विशेष प्रकार का “स्मार्ट चाकू” बनाया हैं। जो महिलाओं की सुरक्षा में एक मददगार साबित होगा।

कैसे बचाएगा स्मार्ट चाकू महिलाओं को मनचलों से?

Varanasi 2 Student Developed Smart Chaku

स्मार्ट चाकू बनाने वाली वाराणसी की शालिनी और दीक्षा के अनुसार यह चाकू आम चाकू जैसा नहीं हैं। उन्होंने बताया की यह स्मार्ट चाकू हैं जिसमें एक सिम कार्ड लगाया जाता है, जिससे मदद से मुसीबत में फंसी महिला अपराधियों से अपनी आत्मरक्षा कर सकती हैं। स्मार्ट चाकू में लगी सिम में फीड किये गए नंबर की सहायता से जब भी कोई महिला किसी मुसीबत में होगी वह आसानी से स्मार्ट चाकू में लगे बटन की सहायता से उसमे फीड नंबर पर एक क्लिक में कॉल कर सकती हैं कॉल करने पर स्मार्ट चाकू में फीड नंबर पर कॉल के साथ महिला का लोकेशन भी चला जायेगा। जिसकी मदद से महिला की मदद के लिए आसानी से पहुंचा जा सकेगा। और चाकू होने के कारण तब तक महिला अपनी आत्म रक्षा भी कर सकेगी।

इसे बनाने वाली शालिनी और दीक्षा ने बताया की स्मार्ट चाकू रेडियो फ्रिक्वेंसी और ब्लूटूथ पर के जरिये काम करता है। स्मार्ट चाकू में एक बहुत छोटा बटन लगाया गया है, जो रेडियो फ्रिक्वेंसी के जरिये मोइबाल फोन के संपर्क में रहता है और मुसीबत के समय इस बटन को दबाने पर इसमें फीड किये गए नंबर पर काल और लोकेशन चली जाती है। स्टील से बने इस स्मार्ट चाकू का वजन लगभग 70 ग्राम है और इसे बनाने में 1 महीने का समय लगा है जिसका कुल खर्च 1500 रुपए आया हैं।

छात्राओं ने बताया की इसे बनाने में उनकी मदद अशोका इंस्टीट्यूट वाराणसी रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेल के इंचार्ज श्याम चौरसिया ने की। श्याम चौरसिया ने बताया की स्मार्ट चाकू की मदद से न सिर्फ मनचलों को डराया जा सकता हैं इसके द्वारा पुलिस की सहायता भी ली जा सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top