नानी ने बताई टॉपर बिटिया के संघर्ष की कहानी, बचपन में हुई मां की मौत फिर पिता ने घर से निकाला,

बिहार सीबीएसई टॉपर श्रीजा का हौसला और जज़्बा लोगो को काफी पसंद आ रहा है। छोटी सी उम्र में अपनी माँ को खोने के बाद श्रीजा का जीवन काफी संघर्ष भरा बिता। उसकी मेहनत और जूनून ने उसे ऐसी सफलता दिलाई कि लोग उसको सलाम करते नज़र आ रहे है।
सीबीएसई बोर्ड के रिजल्ट आने के बाद बिहार की श्रीजा काफी चर्चा में है श्रीजा ने CBSE की 10वी परीक्षा में 99.4 फीसदी अंक लाकर पूरे राज्य में टॉप किया है । श्रीजा के सर से मां का साया उठ जाने पर पिता ने भी उसे अपनाने से इंकार कर दिया। ऐसे में श्रीजा के जीवन की संघर्ष भरी कहानी उनकी नानी इंटरनेट पर बयां करती नजर आ रही है।
ऐसे में नानी बताते हुए कहती है कि उनकी बेटी के निधन के बाद दामाद ने श्रीजा को अपनाने से इनकार कर दिया और दूसरी शादी कर ली। ऐसे में श्रीजा ने नाना-नानी के पास रहकर ही अपनी पढ़ाई की. जब श्रीजा की मां के देहांत हुआ तब उसकी उम्र सिर्फ 5 साल थी लेकिन आज वह पूरे बिहार में टॉपर के तौर पर पहचानी जा रही हैं।उनकी नानी ने बताया कि उनके दामाद ने श्रीजा को घर से बाहर कर दिया यह उनका दुर्भाग्य है क्योंकि आज हमें ये सौभाग्य मिल रहा है कि श्रीजा की इस उपलब्धि पर खुश होकर जश्न मना सकते हैं।

अगर वह यह गलती नहीं करते तो आज उनके घर पर जश्न मन रहा होता

श्रीजा की नानी ने आगे कहा कि आज उनको अहसास हो रहा होगा कि बचपन में दामाद ने जिस बेटी को घर से भगा दिया था वह आज अपने नाना-नानी का नाम रोशन कर रही है. उन्होंने बताया कि श्रीजा की मां की मौत के बाद दामाद कभी घर नहीं आए और न ही श्रीजा से किसी तरह का कोई रिश्ता रखा. लेकिन अब जब श्रीजा टॉपर बन गई है तो उसके पिता ने उससे मिलने की इच्छा जाहिर की है ।
इस वीडियो को बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने शेयर किया और कहा कि प्रतिभा अवसरों की मोहताज नहीं है और किसी भी रूप में अगर मैं आपके काम आ सकूं तो यह मेरा सौभाग्य होगा । लोग श्रीजा की साहस और मेहनत की तारीफ करते भी थक रहे है ।श्रीजा ने अपने कमजोरी को अपनी ताकत बनाकर इस्तमाल किया और आज यह मुकाम हासिल किया है .

यहाँ देखें वीडियो

 

 

 

Back To Top
error: Please do hard work...