कोरोना से ठीक होने के बाद हो रहा ब्लैक फंगस – जाने इसके लक्षण और रोकथाम के उपाय।

What is Black Fungus

देश में एक तरफ तो लोग कोरोना से बहुत परेशान हो रहे है वहीं दूसरी तरफ ब्लैक फंगस जिसे कवक संक्रमण कहते हैं। जिसके मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से हर किसी को खतरा नहीं हैं यह संक्रमण सिर्फ उन्ही लोगो को हो रहा है जो कोरोना से जीत कर ठीक हो गए हैं। आइये जानते है आखिर क्या है यह संक्रमण और क्या है इसके लक्षण।

आखिर क्या है ब्लैक फंगस

blalck fungus

ब्लैक फंगस एक दुर्लभ प्रकार का फंगस इन्फेक्शन है जिसका वैज्ञानिक नाम म्यूकोरमाइकोसिस हैं। ICMR के मुताबिक यह फंगस इन्फेक्शन शरीर में बहुत तेज़ी से फैलता हैं और जिससे की आँखों की रौशनी जाने का भी खतरा होता हैं। कई मामलों में तो यह मरीज की जान भी ले लेता हैं।

ब्लैक फंगस से किन लोगों को है ज्यादा खतरा

ICMR ने कहा है की जिन लोगों की इम्युनिटी कमजोर है या कोरोना के बाद इम्युनिटी कमजोर हो गई है ऐसे लोगों को यह ब्लैक फंगस का संक्रमण तेज़ी से फेल रहा हैं। इससे कोरोना मरीज से जो ठीक हुए है उन लोगों को खासा ध्यान रखने की जरुरत है। इसके साथ ही डायबिटीज वाले मरीजों को भी ध्यान रखना चाहिए। क्योकि जिन लोगों का शुगर लेवल बढ़ जाए उन लोगों के लिए यह इन्फेक्शन जानलेवा भी हो सकता हैं।

ब्लैक फंगस के लक्षण (Symptoms)

  • बुखार या तेज सिरदर्द
  • खांसी
  • खूनी उल्टी
  • नाक से खून आना या काले रंग का स्त्राव
  • आंखों या नाक के आसपास दर्द
  • आंखों या नाक के आसपास लाल निशान या चकत्ते
  • आंखों में दर्द, धुंधला दिखाई देना
  • गाल की हड्डी में दर्द, एक तरफा चेहरे का दर्द, चेहरे पर एक तरफ सूजन
  • दांतों में ढीलापन महसूस होना, मसूढ़ों में तेज दर्द
  • छाती में दर्द, सांस लेने में तकलीफ होना

कैसे बचे ब्लैक फंगस से

अगर शरीर में ऐसे कुछ लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर की सलाह ले और ब्लैक फंगस का एंटीफंगल दवाओं से भी इलाज करके ठीक किया जा सकता हैं। अगर ऐसे कोई भी लक्षण दिखाई देते है तो भूल से भी अपनी मर्जी की दवाई ना ले। क्योकि ऐसे में यह खतरनाक साबित भी हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top