यूट्यूब की वजह से बढ़ रहा हैं बच्चों में मोटापा।

Youtube ki Wajah se badh rha motapa

अमेरिकी पीडियाट्रिक जनरल में एक ऐसी रिपोर्ट पब्लिश हुई है जिसने लोगो को चौंका दिया है। रिपोर्ट में बताया गया है की youtube पर 400 से ज्यादा जंक फ़ूड और शक्कर वाले पेय पदार्थ वाले विज्ञापन की विडियो बच्चे देख रहे है। और विडियो को देखने के बाद बच्चो की जंक फ़ूड की मांग बढती जा रही है। जंक फ़ूड को खा कर बच्चो का मोटापा तेजी से बढ़ता जा रहा है।

• कोरोना काल में जनरल पीडियाट्रिक्स की रिपोर्ट ने माता पिता को चौकाया।
• भारत में भी बच्चे youtube विडियो देख कर जंक फ़ूड मांगते है, ऐसा विशेषज्ञों का कहना है।

क्या भारत में भी हैं मोटापे का डर?

भारत में भी कुछ ऐसा ही हाल बताया जा रहा है। दिल्ली में उपस्थित सर गंगाराम अस्पताल की डॉक्टर आरती आनंद का कहना है की youtube पर जंक फ़ूड की विडियो देखने के बाद, जंक फ़ूड की डिमांड करते है। पेरेंट्स उनकी जिद को पूरा भी करते है। बच्चो में उम्र बढ़ने के साथ जंक फ़ूड खाने के आदत बढती जा रही है।

नामी कंपनी चला रही विज्ञापन बच्चो को बना रही निशाना

विडियो में दिखाए जाने वाले 90 प्रतिशत विज्ञापन ऐसे बताये जा रहे है जो की सेहत के लिए बहुत खतरनाक है। इसमें कई बड़ी और नामी कंपनियों के प्रोडक्ट भी शामिल है। कोरोना में स्कूल एवं कोचिंग संस्थान पूर्णत बंद है और बच्चो का मोबाइल टाइम बढ़ चूका है। विज्ञापन में मिल्कशेक, फ्रेंच फ्राई, सॉफ्टड्रिंक्स, चीजबर्गर दिखाए जा रहे है जो की लाखो बच्चो की पसंद बन चुके है।

बच्चे यूट्यूब देख रहे, 80% पेरेंट्स ने भी मानी यह बात

अमेरिका में 2 से 19 साल तक के बच्चे 1970 के दशक में 5.5 प्रतिशत मोटापे के शिकार थे। परन्तु अब यह संख्या बढ़ कर 20 फीसदी हो चुकी है। एक स्टडी के अनुसार जंक फूड के विज्ञापन और बचपन में बढ़ने वाले मोटापे की बीमारी के बीच बहुत बड़ा संबंध है। 80 प्रतिशत बच्चो में माता-पिता भी मान चुके है की बच्चे अब youtube पर ज्यादा वक़्त बिताते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top